Friday, August 17, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

राज्य में सभी गाड़ियों में डस्टबिन लगाना हुआ अनिवार्य, सड़कों पर कूड़ा फेंकना पड़ सकता है महंगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राज्य में सभी गाड़ियों में डस्टबिन लगाना हुआ अनिवार्य, सड़कों पर कूड़ा फेंकना पड़ सकता है महंगा

देहरादून।  राज्य में स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए सरकार की तरफ से अहम कदम उठाए गए हैं। उत्तराखंड सरकार ने अब चार पहिया वाहनों में डस्टबिन या डस्टबैग लगाना अनिवार्य कर दिया है इसके बिना वाहनों के रजिस्ट्रेशन नहीं होंगे। परिवहन सचिव डी सेंथिल पांडियन की तरफ से यह आदेश जारी किया गया है।  स्वच्छ भारत अभियान के तहत साफ-सफाई और स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए यह निर्णय लिया गया है। 

दो पहिया वाहनों को छूट

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 को स्वच्छ भारत मिशन की शुरूआत की थी और इसके तहत विभिन्न राज्यों में इसे मिशन के तौर पर चलाया जा रहा है। पर्यावरण संरक्षण और स्वच्छता को बढ़ावा देने के मकसद से मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने दो पहिया वाहनों को छोड़कर सभी वाहनों में डस्टबिन या डस्टबैग लगाने के निर्देश दिए थे। परिवहन सचिव की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि निजी एवं व्यावसायिक वाहनों पर इसे अनिवार्य कर दिया है। परिवहन विभाग के अफसरों को इसे तत्काल प्रभाव से लागू करने के निर्देश दिए गए हैं।

ये भी पढ़ें -टीईटी और डीएलएड कोर्स कर चुके शिक्षामित्र बनेंगे प्राथमिक शिक्षक, शासनादेश हुए जारी


जुर्माने का प्रावधान

आपको बता दें कि मोटर वाहन अधिनियम भारत सरकार के तहत आता है ऐसे में इसे राज्य में लागू करने के लिए प्रदेश सरकार को एक नियमावली बनानी पड़ेगी, जिसमें इसका प्रावधान करना होगा। परिवहन सचिव डी सेंथिल पांडियन ने कहा कि एक महीने के बाद इसकी समीक्षा की जाएगी। यदि वाहन मालिकों ने इसका पालन नहीं किया तो जुर्माने का भी प्रावधान किया जा सकता है।  

Todays Beets: