Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

उत्तराखंड में फर्जी दस्तावेज वाले 59 शिक्षकों पर कार्रवाई, 27 किए गए बर्खास्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड में फर्जी दस्तावेज वाले 59 शिक्षकों पर कार्रवाई, 27 किए गए बर्खास्त

देहरादून। फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी पाने वाले शिक्षकों पर शिक्षा विभाग ने 59 शिक्षकों पर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट एसआईटी को भेज दी है। विभाग की ओर से कहा जा रहा है कि ऐसे 27 शिक्षकों की सेवाएं समाप्त की जा चुकी हैं। जिन शिक्षकों की सेवाएं समाप्त की गई हैं उनमें से सबसे ज्यादा 19 हरिद्वार जिले के हैं। बता दें कि अमान्य डिग्री में फंसे 12 शिक्षकों के खिलाफ हाईकोर्ट से स्थगनादेश होने के कारण वैधानिक कार्रवाई न होने का हवाला दिया गया है। गौर करने वाली बात है कि राज्य में बड़ी संख्या में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी पाने वाले शिक्षकों का खुलासा हुआ था। 

गौरतलब है कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से बड़ी संख्या में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी दी गई थी। राज्य में भाजपा की सरकार आने के बाद इसकी एसआईटी जांच के आदेश दिए गए। जांच में कई स्कूलों मंे फर्जी शिक्षकों के बारे मंे पता चला। इनमें से सबसे ज्यादा ऊधमसिंह नगर और हरिद्वार जिले में थे। एसआईटी ने विभागीय अधिकारियों को 62 मामलों में कार्रवाई की संस्तुति की थी, जिनमें से अभी तक 23 मुकदमे पंजीकृत हो सके हैं।  

ये भी पढ़ें - आने वाले आईपीएल सत्र में उत्तराखंड के खिलाड़ी भी बिखेर सकते हैं अपना जलवा, बीसीसीआई को भेजे गए 14 नाम


यहां बता दें कि अब विभाग ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर नौकरी पाने वालों में से 59 पर कार्रवाई कर उसकी रिपोर्ट एसआईटी को भेज दी गई है। विभाग ने 27 शिक्षकों को बर्खास्त भी कर दिया है। खबरों के अनुसार बर्खास्त होने वाले शिक्षकों में सबसे ज्यादा हरिद्वार के हैं वहीं देहरादून और रुद्रप्रयाग के भी 3-तीन शिक्षक शामिल हैं। इससे संबंधित 12 मामले ऐसे हैं जो नैनीताल हाईकोर्ट में विचाराधीन हैं। 

Todays Beets: