Saturday, October 20, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

विशिष्ट बीटीसी कर चुके शिक्षकों के बचाव में उतरे खुद शिक्षा मंत्री, केन्द्र से किया मान्यता देने का अनुरोध

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विशिष्ट बीटीसी कर चुके शिक्षकों के बचाव में उतरे खुद शिक्षा मंत्री, केन्द्र से किया मान्यता देने का अनुरोध

देहरादून। अधिकारियों की लापरवाही की वजह से अप्रशिक्षितों की श्रेणी में हजारों शिक्षकों के बचाव में खुद शिक्षा मंत्री उतर आए हैं। स्कूली शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात कर इसके बारे में जानकारी दी। पांडे ने केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात कर साल 2001 से अब तक की मान्यता देने का भी अनुरोध किया। इसके साथ ही शिक्षा का अधिकार कानून (आरटीई एक्ट) के तहत उन्होंने प्राईवेट स्कूलों में पढ़ रहे सवा लाख छात्र-छात्राओं की फीस की प्रतिपूर्ति की भी मांग की है।

मान्यता देने का अनुरोध

गौरतलब है कि स्कूली शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने बताया कुछ कारणों की वजह से उत्तराखंड में विशिष्ट बीटीसी कोर्स को एनसीटीई से मान्यता नहीं मिल पाई जबकि उत्तरप्रदेश को समय पर ही मान्यता दे दी गई थी। अब शिक्षकों की भर्ती के नए मानकों के चलते ये सभी शिक्षक अप्रशिक्षितों की श्रेणी में आ गए हैं। शिक्षा मंत्री ने केन्द्रीय मंत्री से 2001 से अब तक विशिष्ट बीटीसी को मान्यता देने का अनुरोध किया है। 

ये भी पढ़ें - सीआरपी-बीआरपी के मामले में शिक्षा विभाग बैकफुट पर, सोमवार से शुरू होगी काउंसलिंग


कार्यवाही का भरोसा

आपको बता दें कि शिक्षा मंत्री ने निजी स्कूलों की फीस की देनदारी का मुद्दा रखते हुए पांडे ने बताया कि यदि समय पर फीस का भुगतान नहीं हुआ तो गरीब बच्चों की शिक्षा पर असर पड़ सकता है। केन्द्रीय मंत्री ने उन्हें जल्द कार्यवाही का आश्वासन देते हुए शिक्षा सचिव से बातचीत की है।  

 

Todays Beets: