Tuesday, September 25, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

सचिवालय में पत्रकारों की एंट्री होगी बैन,सरकार देगी जानकारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सचिवालय में पत्रकारों की एंट्री होगी बैन,सरकार देगी जानकारी

देहरादून। राज्य सरकार ने अब सचिवालय के विभागों में मीडिया के प्रवेश पर पाबंदी लगाने की तैयारी कर रही है। राज्य के मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए खुद इस बात की जानकारी दी है। इसके बाद शायद ‘सूत्रों के हवाले से’ वाले खबरों पर ब्रेक लग जाएगी। आपको बता दें कि प्रदेश में सरकार के निर्णयों की पहले से जानकारी प्राप्त करने की तलाश में रहने वाले पत्रकारों के विभागों में प्रवेश पर रोक लगाने की तैयारी कर रही है। ऐसा कहा जा रहा है कि सचिवालय और सत्ता के गलियारों तक पहुंच रखने वाले पत्रकारों पर जीरो टॉलरेंस का रुख अख्तियार कर लिया है। 

 

जीरो टॉलरेंस की नीति

गौरतलब है कि सरकार ने शासन में पारदर्शिता लाने और भ्रष्टाचार खत्म करने की तरफ एक बड़ा कदम उठाया है। इसके तहत शासन के स्तर से मिलने वाली सूचनाओं पर रुख कड़ा दिया है। सचिवालय में पत्रकार वार्ता में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने बताया कि सरकार सभी मीडिया कर्मियों को सही व आधिकारिक जानकारी देना चाहती है इसके लिए नई व्यवस्था बनाई गई है। अब हर दिन दोपहर चार बजे सूचना निदेशक सचिवालय में मीडिया से रूबरू हो शासन और महकमों में विकास संबंधी गतिविधियों और अन्य सूचनाओं को मुहैया कराएंगे। मुख्य सचिव के आदेश में यह कहा गया कि मंत्रिमंडल की बैठकों से पहले कई बार इसके विषय मीडिया के जरिये बाहर आ रहे हैं। इनकी गोपनीयता बनाने के लिए संबंधित विभाग व अधिकारी अपने स्तर से कदम उठाएं।  इसके साथ ही यह भी स्पष्ट किया है कि नियमानुसार किसी भी बाहरी व्यक्ति को कर्मचारियों से कार्यालय में नहीं मिलने दिया जाएगा।


ये भी पढ़ें - फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी पाने वाले फरार फाॅरेस्ट गार्डों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ...

 

Todays Beets: