Saturday, March 23, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

आर्थिक तंगी से जूझ रहे पिता ने उठाया बड़ा कदम, अपने 5 साल के बेटे की हत्या

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आर्थिक तंगी से जूझ रहे पिता ने उठाया बड़ा कदम, अपने 5 साल के बेटे की हत्या

रुड़की। देवभूमि उत्तराखंड से दिल दहलाने वाली एक खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि आर्थिक तंगी से जूझ रहे पिता ने अपने ही 5 साल के बेटे की गला घोंटकर हत्या कर दी और पुलिस को गुमराह करने के लिए उसके अपहरण की झूठी खबर फैला दी। खबरों के अनुसार शोभित नाम के आरोपी पिता ने अपने पुत्र धैर्य को चिप्स दिलाने के बहाने घर से ले जाकर हत्या कर दी और उसकी लाश को खेत में छिपा दिया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी पिता ने बेटे की हत्या की बात कबूल ली है। 

गौरतलब है कि धैर्य अपने मां-बाप का इकलौता बेटा था। उसके जन्म के बाद घर में सभी खुश थे। बताया जा रहा है कि धैर्य के पिता की हालत इतनी खराब नहीं थी कि वह बेटे की हत्या कर दे। स्थानीय लोगों के अनुसार अभी कुछ ही समय पहले आरोपी पिता ने दवाई की दुकान खोली थी लेकिन उसके नहीं चलने की वजह से उसने बंद कर दी। 


ये भी पढ़ें - नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी में फंसे पूर्व भाजपा नेता, मुकदमा हुआ दर्ज

ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि शोभित के पिता एक बीएमएमएस डाॅक्टर हैं और उसकी मां एक स्कूल में शिक्षिका है। ऐसे में हत्या के पीछे आर्थिक तंगी की बात पुलिस के गले भी नहीं उतर रही है।  एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि आरोपी पिता का कहना था कि उसके बच्चे का खर्च 10 हजार रुपये महीना था, लेकिन इसे ही हत्या की वजह मानना काफी नहीं है। उन्होंने बताया कि लोगों से पूछताछ में यह बात सामने आई है कि शोभित अग्रवाल पर लाखों का कर्ज था। ऐसे में यह आशंका है कि उसने बेटे की अपहरण की साजिश रचकर अपने परिजनों  से ही फिरौती के रूप में मोटी रकम हासिल करने की योजना बनाई है। पुलिस सभी पहलुओं की बारीकि से पड़ताल कर रही है।

Todays Beets: