Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

आर्थिक तंगी से जूझ रहे पिता ने उठाया बड़ा कदम, अपने 5 साल के बेटे की हत्या

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आर्थिक तंगी से जूझ रहे पिता ने उठाया बड़ा कदम, अपने 5 साल के बेटे की हत्या

रुड़की। देवभूमि उत्तराखंड से दिल दहलाने वाली एक खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि आर्थिक तंगी से जूझ रहे पिता ने अपने ही 5 साल के बेटे की गला घोंटकर हत्या कर दी और पुलिस को गुमराह करने के लिए उसके अपहरण की झूठी खबर फैला दी। खबरों के अनुसार शोभित नाम के आरोपी पिता ने अपने पुत्र धैर्य को चिप्स दिलाने के बहाने घर से ले जाकर हत्या कर दी और उसकी लाश को खेत में छिपा दिया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी पिता ने बेटे की हत्या की बात कबूल ली है। 

गौरतलब है कि धैर्य अपने मां-बाप का इकलौता बेटा था। उसके जन्म के बाद घर में सभी खुश थे। बताया जा रहा है कि धैर्य के पिता की हालत इतनी खराब नहीं थी कि वह बेटे की हत्या कर दे। स्थानीय लोगों के अनुसार अभी कुछ ही समय पहले आरोपी पिता ने दवाई की दुकान खोली थी लेकिन उसके नहीं चलने की वजह से उसने बंद कर दी। 


ये भी पढ़ें - नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी में फंसे पूर्व भाजपा नेता, मुकदमा हुआ दर्ज

ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि शोभित के पिता एक बीएमएमएस डाॅक्टर हैं और उसकी मां एक स्कूल में शिक्षिका है। ऐसे में हत्या के पीछे आर्थिक तंगी की बात पुलिस के गले भी नहीं उतर रही है।  एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि आरोपी पिता का कहना था कि उसके बच्चे का खर्च 10 हजार रुपये महीना था, लेकिन इसे ही हत्या की वजह मानना काफी नहीं है। उन्होंने बताया कि लोगों से पूछताछ में यह बात सामने आई है कि शोभित अग्रवाल पर लाखों का कर्ज था। ऐसे में यह आशंका है कि उसने बेटे की अपहरण की साजिश रचकर अपने परिजनों  से ही फिरौती के रूप में मोटी रकम हासिल करने की योजना बनाई है। पुलिस सभी पहलुओं की बारीकि से पड़ताल कर रही है।

Todays Beets: