Saturday, October 20, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

फर्जी तरीके से प्राध्यापकों की नियुक्ति में फंसी उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय की पूर्व कुलपति, मुकदमा हुआ दर्ज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फर्जी तरीके से प्राध्यापकों की नियुक्ति में फंसी उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय की पूर्व कुलपति, मुकदमा हुआ दर्ज

हरिद्वार। उत्तराखंड में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर शिक्षकों की भर्ती का एक और नया मामला सामने आया है। इस बार यह मामला उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय से जुड़ा है। विश्वविद्यालय की पूर्व कुलपति डाॅक्टर सुधा रानी पांडे के खिलाफ 12 शिक्षकों को फर्जी तरीके से भर्ती करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। बता दें कि उत्तराखंड संस्कृत विश्व विद्यालय हरिद्वार के कुलपति पीयूषकांत दीक्षित ने एसएसपी कृष्ण कुमार वीके को 31 अगस्त 2017 को प्रार्थना पत्र देते हुए बताया था कि संस्कृत विवि की पूर्व कुलपति सुधा पांडेय ने वर्ष 2010 में 12 शिक्षकों की फर्जी तरीके से नियुक्ति की थी। 

मुकदमा हुआ दर्ज

गौरतलब है कि पूर्व कुलपति के साथ-साथ नियुक्ति पाने वाले 1 प्रोफेसर और 11 असिस्टेंट प्रोफेसर भी कार्रवाई की जद में आ गए हैं। बता दें कि इसकी शिकायत कई बार की गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो पाई थी। इस मामले की जांच आयुक्त गढ़वाल मंडल ने की थी और जांच में सुधा पांडे के खिलाफ कई सबूत मिले थे। इस मामले का संज्ञान लेते हुए एसएसपी ने थाना बहादराबाद को पूर्व कुलपति के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया था। थाना प्रभारी बहादराबाद मनोहर भंडारी ने बताया कि पीयूष कांत दीक्षित की तहरीर पर सुधा पांडेय के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

 


ये भी पढ़ें - उत्तराखंड के लोगों की मांग हो सकती है पूरी, गैरसैंण बन सकता है ग्रीष्मकालीन राजधानी

 

Todays Beets: