Thursday, May 23, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

उत्तराखंड - जंगलों में फैली आग के बीच वन सेवा के आला अफसर स्टडी टूर पर विदेश रवाना , ग्रामीणों से लगाई मदद की गुहार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड - जंगलों में फैली आग के बीच वन सेवा के आला अफसर स्टडी टूर पर विदेश रवाना , ग्रामीणों से लगाई मदद की गुहार

देहरादून । जहां एक ओर उत्तराखंड के जंगल इस समय आग से धधक रहे हैं, वहीं इन दिनों वन विभाग के अफसरों का स्टडी टूर पर यूके और पोलैंड जैसे देशों में जाने पर अब हंगामा होना शुरू हो गया है । अभी तक उत्तराखंज के गढ़वाल और कुमांऊ मंडलों में 900 हेक्टेयर जंगलों में वन संपदा पूरी तरह खाक हो गई है, वहीं दिनों दिन आग बढ़ती जा रही है। ऐसे समय में जब देवभूमि के जंगलों में लगी आग विकराल रूप धारण करती जा रही है, ऐसे में वन अधिकारियों का स्टडी टूर किसी के गले नहीं उतर रहा है । इस सब के बीच लोगों ने सरकार की नीतियों को जंगलों में लगने वाली आग का कारण बताते हुए इस मुद्दे पर भारी उदासीनता बरतने के आरोप लगाए हैं। लोगों का गुस्सा भी चरम पर तब आ गया है जब मुख्य वन संरक्षक जयराम ने अपने एक ऑडियो संदेश में कहा  - जंगल स्थानीय लोगों के हैं. इसलिए वे खुद भी जंगलों की अच्छी देखभाल करें और आग पर काबू पाने में उनकी मदद करें ।

केदारनाथ में फिर गिरी बर्फ , खराब मौसम के चलते जिला प्रशासन ने रोकी यात्रा , श्रद्धालुओं को गौरीकुंड-सोनप्रयाग में रोका

बता दें कि एक बार फिर से उत्तराखंड के जंगल धधक रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से बढ़ते तापमान के बाद आग तेजी से बढ़ रही है । हालांकि सोमवार रात हुई बारिश ने कुछ इलाकों में जंगलों में लगी आग को बुझाने की भूमिका निभाई है , लेकिन अभी भी काफी इलाके में आग बदस्तूर आगे बढ़ रही है । वन विभाग के रिकॉर्ड के मुताबिक बीते सोमवार को दोपहर तक कुल 711 आग लगने की घटनाएं हुईं, जिससे 984 हेक्टेयर जंगल नष्ट हो गए. इस क्षेत्र में ओक, देवदार और पेड़ों की अन्य किस्में शामिल थीं. तापमान में वृद्धि से हुए विस्फोट के कारण वन विभाग को 16 लाख रुपए तक के नुकसान का विश्लेषण किया गया है ।

काशीपुर के होटल में 28 वर्षीय बैंक कैशियर की गोली लगने से मौत , होटल के कमरे में एक संदिग्ध युवती निकलती देखी गई


आलम यह है कि कॉर्बेट टाइगर रिजर्व तक आग बढ़ गई. क्षेत्र में समृद्ध जैव विविधता और बंगाल के बाघों समेत कई जानवरों की प्रजातियां हैं। इस सब के बावजूद तीन शीर्ष भारतीय वन सेवा (IFS) के अधिकारी- मुख्य वन संरक्षक विवेक पांडेय, वन संरक्षक पराग मधुकर धकाते और प्रभागीय वनाधिकारी नीतीश मणि त्रिपाठी स्टडी टूर के लिए 2 सप्ताह के लिए यूनाइटेड किंगडम और पोलैंड के लिए रवाना हो गए हैं ।

इस सब के बीच वन विभाग ने उन लोगों के लिए 5,000 रुपए के इनाम की भी घोषणा की है, जो जंगल में आग लगाने के लिए जिम्मेदार व्यक्ति के बारे में बताएंगे ।

 

Todays Beets: