Thursday, November 23, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

हरिद्वार के स्कूलों में 4 और फर्जी शिक्षक आए एसआईटी की जांच के दायरे में, जारी हुए नोटिस

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हरिद्वार के स्कूलों में 4 और फर्जी शिक्षक आए एसआईटी की जांच के दायरे में, जारी हुए नोटिस

हरिद्वार। फर्जी दस्तावेजों के आधार पर शिक्षकों की नियुक्ति मामले में एसआईटी को और सफलत मिली है।  शिक्षा विशारद की अमान्य डिग्री लेकर शिक्षक बने 4 और शिक्षकों को एसआईटी ने नोटिस जारी कर दिए हैं। नोटिस का जवाब मिलने पर इनके खिलाफ भी मुकदमे की संस्तुति की जाएगी। बता दें कि जिन शिक्षकों को नोटिस भेजा गया है उनमें से एक शिक्षा अधिकारी का काफी नजदीकी बताया जा रहा है। इससे साफ जाहिर होता है कि फर्जी तरीके से शिक्षकों की भर्ती के तार ऊपर तक जुड़े हुए हैं।

एसआईटी की जांच

गौरतलब है कि राज्य में फर्जी डिग्री लेकर शिक्षक बनने वालों की जांच एसआईटी द्वारा की जा रही है। अभी तक करीब 180 शिक्षक जांच के दायरे में आए हैं और इनमें से 12 को बर्खास्त भी किया जा चुका है। कई शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया है। यहां बता दें कि हर्रावाला में भी अनुदानित अशाकीय स्कूल के चार शिक्षकों के खिलाफ भी फर्जी डिग्री पर मुकदमा दर्ज हो चुका है।

ये भी पढ़ें - विशिष्ट बीटीसी कर चुके शिक्षकों के बचाव में उतरे खुद शिक्षा मंत्री, केन्द्र से किया मान्यता द...


शिक्षा विशारद की अमान्य डिग्री

आपको बता दें कि नए मामले में हरिद्वार के नेहरू जूनियर विद्यालय और प्राथमिक विद्यालय रुड़की का नाम सामने आया है। इन दोनों स्कूलों के 4 शिक्षकों की डिग्री शिक्षा विशारद की है जिसे एनसीटीई ने पहले ही अमान्य घोषित कर दिया है। अब  एसआईटी ने इसी आधार पर इन शिक्षकों को जांच में शामिल करते हुए नोटिस जारी कर दिए हैं। नोटिस का जवाब मिलने के बाद उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

Todays Beets: