Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

सरकारी अस्पतालों में राज्य के सभी लोगों की होगी मुफ्त जांच, दिखाना होगा आधार कार्ड 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सरकारी अस्पतालों में राज्य के सभी लोगों की होगी मुफ्त जांच, दिखाना होगा आधार कार्ड 

देहरादून। राज्य सरकार ने प्रदेश के लोगों को बड़ी सौगात दी है। अब उत्तराखंड के सभी प्रमुख सरकारी अस्पतालों में मरीजों के पैथौलाॅजी और रेडियोलाॅजी से जुड़ी सभी जांच मुफ्त में होंगे। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए हैं। बता दें कि अभी तक मुफ्त की जांच की सुविधा उन्हीं लोगों को मिल रहा था जो मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के दायरे में आ रहे थे। मुफ्त जांच की सुविधा लेने के लिए मरीजों को आधार कार्ड दिखाना होगा जबकि दूसरे राज्यों के मरीजों से फीस लिया जाएगा।

एनएचएम के तहत मिलेगा बजट

गौरतलब है कि राज्य के मरीजों को मुफ्त डायग्नोसिक योजना के तहत अक्तूबर 2016 से मुफ्त इलाज की सुविधा देने का निर्णय लिया गया था लेकिन इस योजना का लाभ अभी तक केवल 36 हजार लोगों को मिल रहा था, जो मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के लाभार्थी हैं।  अब राज्य सरकार ने कहा है कि यह सुविधा राज्य के हर व्यक्ति को मिलेगा। मुफ्त जांच की सुविधा के लिए अस्पतालों को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत बजट मुहैया कराया जाएगा। 

ये भी पढ़ें - प्रवक्ता पद पर तैनात अतिथि शिक्षकों को हाईकोर्ट ने दी राहत, मार्च 2018 तक व्यवस्था बनाए रखने ...


बढ़ाई जाएंगी सुविधाएं

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में दिए गए निर्देश के बाद एनएचएम की ओर से प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। बता दें कि इस प्रस्ताव के तहत फिलहाल 22 प्रमुख अस्पतालों में खून की जांच के लिए ऑटो एनालाईजर मशीनें खरीदने का निर्णय लिया गया है जबकि रेडियोलॉजी जांच के लिए अस्पतालों में एक्सरे, सीटी स्कैन एवं एमआरआई की सुविधा को भी बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। 

 

Todays Beets: