Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

गैरसैंण राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनकर रहेगी- अजय भट्ट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गैरसैंण राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनकर रहेगी- अजय भट्ट

देहरादून। गैरसैंण में विधानसभा सत्र नहीं कराने वाला बयान देकर सुर्खियों में आए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि गैरसैंण का राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनना तय है। उन्होंने कहा कि गैरसैंण उत्तराखंड की आत्मा है और सरकार लोगों से किया गया वादा हर हाल में पूरा करेगी। एक अखबार को दिए गए साक्षात्कार में अजय भट्ट ने गैरसैंण पर सीएम के बयान से इतर बयान देने पर कहा कि सरकार और संगठन में न तो कोई मतभेद है और न ही मनभेद। विधानसभा सत्र के आयोजन पर सरकार ने फैसला लिया वही पक्का है। अजय भट्ट ने कहा कि निकाय चुनाव के नतीजों से उत्साहित भट्ट का अगला लक्ष्य लोकसभा चुनाव है।

गौरतलब है कि मी टू प्रकरण पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि जैसे ही संजय कुमार पर यह आरोप लगे उन्होंने इस्तीफा देने की पेशकश की और पार्टी ने उन्हें हटा दिया। अब उनका पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है जो भी होगा उससे वे खुद ही निपटेंगे। सरकार और प्रदेश अध्यक्ष के बीच आपसी मतभेद पर उन्होंने कहा कि सरकार के काम में संगठन कभी दखल नहीं करता और संगठन के काम में सरकार कोई दखल नहीं करती है। हम आपस में समन्वय बनाते हैं। कोर ग्रुप की समय समय पर होने वाली बैठकों में कई विषयों पर चर्चा होती है। सरकार और पार्टी अलग नहीं है। जो पार्टी चाह रही है, उस पर काम हो रहा है।

ये भी पढ़ें - शहरी विकास विभाग के सेवानिवृत्त कर्मचारियों को मिलेगा राज्य कर्मचारी की तरह पेंशन, प्रदेश सरक...


यहां बता दें कि गैरसैंण को लेकर उपजे विवाद पर उन्होंने कहा कि ऐसा कोई विवाद नहीं है। सरकार और संगठन के बीच मतभेद या फिर मनभेद नहीं है। उन्होंने कहा कि बुनियादी सुविधाओं के अभाव की वजह से गैरसैंण में सत्र न कराने की बात कही थी लेकिन सत्र कहां कराया जाए यह सरकार का विशेषाधिकार है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में गैरसैंण पर कोई जवाब नहीं देता था लेकिन भाजपा के शासनकाल में इसे ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने की तरफ कदम बढ़ाया जा रहा है। 

आपको बता दें कि भाजपा की लगातार जीत के बावजूद कार्यकर्ताओं की अनदेखी होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी कार्यकर्ताओं पर आधारित पार्टी है। उनके पास धनबल नहीं जनबल है। कार्यकर्ताओं को सरकार में समाहित किया जाना है। इस पर चर्चा की गई है उन्हें जल्द ही दायित्व दिया जाएगा। स्थानीय निकाय चुनाव में अच्छे प्रदर्शन पर उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी जीत के बाद बहुत ज्यादा उत्साहित नहीं होती है अब उनका अगला लक्ष्य 2019 का लोकसभा चुनाव है। 

Todays Beets: