Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि पंतनगर को मिला गवर्नर्स बेस्ट यूनिवर्सिटी का अवार्ड, यूओयू और एचएनबी दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि पंतनगर को मिला गवर्नर्स बेस्ट यूनिवर्सिटी का अवार्ड, यूओयू और एचएनबी दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे

देहरादून। गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि पंतनगर को साल 2017 का ‘गवर्नर्स बेस्ट यूनिवर्सिटी का अवार्ड दिया गया है। उत्तराखंड मुक्त विश्वद्यिालय को दूसरा और एचएनबी चिकित्सा विश्वविद्यालय को तीसरा स्थान मिला है। बता दें कि राज्यपाल डाॅक्टर केके पाॅल की पहल पर साल 2016 में पहली बार राज्य के विश्वविद्यालयों के बीच प्रतिस्पर्धा बढ़ाने के लिए गवर्नर्स अवार्ड शुरू किए गए थे। 

 


गौरतलब है कि गवर्नर्स अवार्ड लगातार तीसरे साल संपन्न हुआ है। राज्यपाल डॉ. कृष्ण कांत पाल ने पंतनगर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एके मिश्रा को प्रथम पुरस्कार प्रदान किया। पुरस्कार स्वरूप उन्हें प्रशस्ति पत्र, रनिंग ट्राफी और पुस्तकालय के लिए दो लाख रुपए की धनराशि प्रदान की गई। दूसरे स्थान पर रहे उत्तराखण्ड मुक्त विश्वविद्यालय (यूओयू) को प्रशस्ति पत्र और पुस्तकालय के लिए एक लाख रुपए और तीसरे स्थान पर रहे हेमवती नंदन बहुगुणा (एचएनबी) चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय देहरादून को प्रशस्ति पत्र और पुस्तकालय के लिए 75 हजार रुपए की धनराशि प्रदान की गई जबकि चौथे स्थान पर रहे कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल को प्रशस्ति पत्र और पुस्तकालय के लिए 50 हजार रुपए की धनराशि प्रदान की गई है। बता दें कि अवार्ड मूल्यांकन के लिए सचिव राज्यपाल रविनाथ रमन की अध्यक्षता में समिति गठित की गई थी। इस समिति की संस्तुति पर ही पुरस्कार दिए गए हैं।  

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड को मिला मेट्रोमैन का साथ, मेट्रो निर्माण में आएगी तेजी

Todays Beets: