Friday, November 24, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

स्वतंत्रता सेनानी आश्रितों और पूर्व सैनिकों को सरकार ने दी राहत, टीईटी में मिली छूट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्वतंत्रता सेनानी आश्रितों और पूर्व सैनिकों को सरकार ने दी राहत, टीईटी में मिली छूट

देहरादून। राज्य सरकार ने प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानी आश्रितों और पूर्व सैनिकों को शिक्षा विभाग में भी बड़ी राहत दी है। त्रिवेन्द्र रावत सरकार ने उन्हें अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में विशेष छूट देते हुए अब 50 प्रतिशत अंक हासिल करने पर भी पात्र माने जाने का फैसला लिया है। पहले यह सीमा 60 प्रतिशत थी। शिक्षा सचिव डॉ. भूपेंद्र कौर औलख ने इसके आदेश कर दिए हैं। 

शर्तों में संशोधन

गौरतलब है कि बेसिक और जूनियर स्तर पर शिक्षक पदों पर नियुक्ति के लिए टीईटी प्रथम और द्वितीय पास होना अनिवार्य है। डॉ. औलख के अनुसार टीईटी में पास होने के लिए सामान्य वर्ग के लिए 60 फीसदी, पिछडा वर्ग-विकलांग के लिए 50 फीसदी और एससी-एसटी अभ्यर्थियों के लिए 40 फीसदी अंक हासिल करना अनिवार्य है। अब स्वतंत्रता संग्राम सेनानी आश्रित और भूतपूर्व सैनिक को भी 50 प्रतिशत की श्रेणी में शामिल कर लिया गया है। टीईटी की पात्रता के लिए मार्च 2016 में जो शर्तें तय की गई थीं उनमें संशोधन कर दिया गया है।  


ये भी पढ़ें - नौजवानों को सेना में भर्ती के लिए प्रेरित करेगी सरकार, कुमाऊं-गढ़वाल मंडलों में खुलेंगे प्रशिक...

 

Todays Beets: