Thursday, August 16, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

स्वतंत्रता सेनानी आश्रितों और पूर्व सैनिकों को सरकार ने दी राहत, टीईटी में मिली छूट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्वतंत्रता सेनानी आश्रितों और पूर्व सैनिकों को सरकार ने दी राहत, टीईटी में मिली छूट

देहरादून। राज्य सरकार ने प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानी आश्रितों और पूर्व सैनिकों को शिक्षा विभाग में भी बड़ी राहत दी है। त्रिवेन्द्र रावत सरकार ने उन्हें अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में विशेष छूट देते हुए अब 50 प्रतिशत अंक हासिल करने पर भी पात्र माने जाने का फैसला लिया है। पहले यह सीमा 60 प्रतिशत थी। शिक्षा सचिव डॉ. भूपेंद्र कौर औलख ने इसके आदेश कर दिए हैं। 

शर्तों में संशोधन

गौरतलब है कि बेसिक और जूनियर स्तर पर शिक्षक पदों पर नियुक्ति के लिए टीईटी प्रथम और द्वितीय पास होना अनिवार्य है। डॉ. औलख के अनुसार टीईटी में पास होने के लिए सामान्य वर्ग के लिए 60 फीसदी, पिछडा वर्ग-विकलांग के लिए 50 फीसदी और एससी-एसटी अभ्यर्थियों के लिए 40 फीसदी अंक हासिल करना अनिवार्य है। अब स्वतंत्रता संग्राम सेनानी आश्रित और भूतपूर्व सैनिक को भी 50 प्रतिशत की श्रेणी में शामिल कर लिया गया है। टीईटी की पात्रता के लिए मार्च 2016 में जो शर्तें तय की गई थीं उनमें संशोधन कर दिया गया है।  


ये भी पढ़ें - नौजवानों को सेना में भर्ती के लिए प्रेरित करेगी सरकार, कुमाऊं-गढ़वाल मंडलों में खुलेंगे प्रशिक...

 

Todays Beets: