Wednesday, January 23, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

प्राईवेट स्कूल एक्ट में होगा बड़ा बदलाव, निजी स्कूलों की मनमानी पर लगेगी रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
प्राईवेट स्कूल एक्ट में होगा बड़ा बदलाव, निजी स्कूलों की मनमानी पर लगेगी रोक

देहरादून। उत्तराखंड में निजी स्कूल अब मनमानी नहीं कर पाएंगे। सरकार इसके लिए प्राईवेट स्कूल एक्ट में संशोधन करने जा रही है। बता दें कि निजी स्कूल शिक्षा सत्र की शुरआत के समय ही फीस बढ़ोतरी, मनमानी फीस वसूलने, कई तरह के अतिरिक्त शुल्क वसूलने, अभिभावकों और छात्रों पर अनावश्यक दबाव डालने जैसी शिकायतों से निपटने के लिए राज्य सरकार ने प्राईवेट स्कूल एक्ट लाने की बात कही थी लेकिन सरकार अब मौजूदा एक्ट में बदलाव करते हुए इसमें केंद्रीय प्रावधान को भी शामिल किया जा रहा है।

गौरतलब है कि प्राईवेट स्कूल शिक्षा के नाम पर कई तरह की फीस वसूलते हैं जिससे छात्रों और अभिभावकों पर अतिरिक्त दवाब पड़ता है। सरकार के द्वारा इन स्कूलों पर लगाम लगाने के लिए पहले प्राईवेट स्कूल एक्ट लाने की बात कही थी। इसका पूरा प्रावधान तैयार कर लिया गया लेकिन इसे फाइनल करने से पहले सरकार अब इसमें केंद्रीय ड्राफ्ट के प्रावधानों को शामिल कर रही है। इस एक्ट के अनुसार, प्रदेश और प्रत्येक जिला स्तर पर निगरानी समिति गठित की जाएगी।

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड की बेटी ने डीकेडी 2 को किया फतह, अब पापसुरा को नापने की तैयारी

यहां बता दें कि ड्राफ्ट पूरी तरह से तैयार करने के बाद मंजूरी के लिए कैबिनेट में रखा जाएगा। बताया जा रहा है कि इस समिति के पास छात्रों और अभिभावकों के द्वारा की जाने वाली शिकायत का उल्लंघन करने वालों पर आर्थिक दंड लगाने का अधिकार होगा। इसके साथ ही सजा देने का भी अधिकार होगा। सरकार का मानना है कि इस नए एक्ट से निजी स्कूलों की मनमानी पर रोक लगेगी। 


गौर करने वाली बात है कि सरकार ने प्राईवेट एक्ट के नए नियमों में कई तरह की छूट भी देने जा रही है। ऐसा कहा जा रहा है कि राज्य की परिस्थिति और एक शिक्षा का केन्द्र के तौर पर उभरने की वजह से ज्यादा सख्त नियमों का उल्टा असर हो सकता है।

 

Todays Beets: