Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

प्रदेश में जाम छलकाना हो सकता है महंगा, सरकार ने एक्साइज ड्यूटी तीन गुना बढ़ाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
प्रदेश में जाम छलकाना हो सकता है महंगा, सरकार ने एक्साइज ड्यूटी तीन गुना बढ़ाई

देहरादून। उत्तराखंड में जाम छलकाना महंगा पड़ सकता है। राज्य सरकार ने शराब पर एक्साइज ड्यूटी की ऊपरी सीमा को तीन गुना बढ़ा दिया है। ऐसे में शराब की कीमतों में इजाफा होना तय है। बता दें कि पिछली अपर लिमिट पिछले महीने ही खत्म हो चुकी है। एक अन्य फैसले में सरकार ने पहाड़ी इलाकों में भी शराब के दुकानों के खुलने और बंद होने के समय में बदलाव कर दिया है। अब इन इलाकों में भी दुकानें सुबह 10 बजे से रात के 10 बजे तक खुली रहेंगी।

एक्साइज ड्यूटी में इजाफा

गौरतलब है कि शराब की बिक्री से सरकार को बड़ी मात्रा में राजस्व की प्राप्ति होती है। उत्तराखंड कैबिनेट की हुई बैठक में एक्साइज ड्यूटी की अपर लिमिट बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। इसके बाद राज्य में शराब की कीमतों में इजाफा होना तय है। राज्य सरकार ने आय के सबसे बड़े श्रोत के आबकारी अधिनियम में संशोधन किया है और जल्द ही इसका प्रस्ताव विधान सभा में लाया जाएगा। संयुक्त आबकारी आयुक्त टीके पंत ने बताया कि एक्साइज ड्यूटी की अधिकतम सीमा बढ़ाने से शराब महंगी करने का विकल्प रहेगा। जरूरत के हिसाब से एक्साइज ड्यूटी लगाकर राजस्व बढ़ाया जा सकेगा। 

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड सरकार ने कर्मचारियों को दिया दिवाली गिफ्ट, वेतनमान के फायदे से वंचितों का डीए 19 फी...

पहाड़ों में रात 10 बजे तक होगी बिक्री


गौरतलब है कि राज्य सरकार ने पहाड़ी इलाकों में स्थित शराब की दुकानों के खुले रहने का समय मैदानी इलाकों की तरह ही कर दिया है। सरकार ने अपने पूर्व का आदेश खत्म कर पहाड़ में भी शराब की दुकानें अब वहां भी रात 10 बजे तक दुकानें खुली रहेंगी। सरकार के प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि लोगों की मांग को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। 

राजस्व में इजाफे की उम्मीद 

आपको बता दें कि प्रदेश के 9 पहाड़ी जिलों में अब शराब बिक्री का समय सुबह 10 से रात दस बजे तक कर दिया गया है। अभी तक हरिद्वार, नैनीताल, देहरादून और ऊधमसिंह नगर में ही अब तक सुबह 10 से रात 10 बजे तक शराब बिक्री की इजाजत थी। यहां बता दें कि इन जनपदों के अलावा अन्य नौ जनपदों में दोपहर 12 बजे से शाम 6 बजे तक ही शराब की दुकानें खोलने के ही आदेश थे  लेकिन अब इन इलाकों में भी दुकानें मैदानी जिलों की तरह सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक खुली रहेंगी। सरकार को उम्मीद है कि दुकानों के खुलने और बंद होने के समय में बदलाव से राजस्व में काफी इजाफा होगा।  

Todays Beets: