Tuesday, November 21, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

लगातार शिकायतों के बाद जागी सरकार, आपातकालीन सेवा के लिए जारी हुए 6 करोड़ 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लगातार शिकायतों के बाद जागी सरकार, आपातकालीन सेवा के लिए जारी हुए 6 करोड़ 

देहरादून। राज्य में मरीजों को आपातकालीन सेवा 108 की मदद न मिलने से सरकार की काफी किरकिरी हो रही है। फोन करने के बाद भी गर्भवती महिला को एम्बुलेंस की सेवा न मिलने से महिला ने दूध की गाड़ी में बच्चे को जन्म दिया था। इस घटना के बाद स्वास्थ्य विभाग की काफी फजीहत हो रही है। इस सब के बीच 108 के बेहतर संचालन के लिए सरकार ने 6 करोड़ रुपये जारी कर दिए हैं। अपर सचिव स्वास्थ्य डॉ.पंकज कुमार पाण्डेय की ओर से इसके आदेश किए गए।

बंदी की कगार पर सेवा

गौरतलब है कि 108 सेवा की संचालक कंपनी जीवीके ईएमआरआई लंबे समय से सरकार से बजट की मांग कर रही है। बजट की कमी के चलते इस कंपनी के  कई कर्मचारियों ने नौकरी छोड़ दी है और अब नौबत यहां तक पहुंच चुकी है कि कई स्थानों पर एम्बुलेंस सेवा ठप होने की कगार पर पहुंच गई है। 108 सेवा की संचालक कपंनी ने सरकार पर बजट न मुहैया कराने का आरोप लगाया था जिसकी वजह से सेवा को संचालित करने में मुश्किल आ रही है। 

ये भी पढ़ें - पद के गुरूर में उड़ाई कानून की धज्जियां, लखनऊ की एडीजी ने पुलिस से की मारपीट


शिकायतों के बाद मिला बजट

आपको बता दें कि लगातार शिकायतों के बाद अब सरकार ने 108 सेवा के लिए बजट जारी कर दिया है। अपर सचिव पाण्डेय ने कहा कि बजट जारी होने के बाद अब राज्य में कहीं भी 108 के संचालन में परेशानी नहीं आएगी। प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्रों में मरीजों को निशुल्क अस्पताल पहुंचाने का काम कर रही 108 सेवा सरकार की प्राथमिकता में है।     

 

Todays Beets: