Monday, April 23, 2018

Breaking News

   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||   रेलवे की 90 हजार नौकरियों के आवेदन की आज लास्ट डेट, दो करोड़ 80 लाख कर चुके हैं अप्लाई     ||   कांग्रेस में बड़ा बदलाव: जनार्दन द्विवेदी की छुट्टी, गहलोत बने नए AICC महासचिव     ||   भारत ने चीन की तिब्बत सीमा पर भेजे और सैनिक, गश्त भी बढ़ाई     ||   अब कॉल सेंटर की नौकरियों पर नजर, अमेरिकी सांसद ने पेश किया बिल     ||   ब्लूमबर्ग मीडिया का दावा, 2019 छोड़िए 2029 तक पीएम रहेंगे नरेंद्र मोदी     ||   फेसबुक को डेटा लीक मामले से लगा तगड़ा झटका, 35 अरब डॉलर का नुकसान     ||

पहाड़ों से होने वाले पलायन पर लगेगी रोक, सरकार ने विशेषज्ञों की बनाई कमेटी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पहाड़ों से होने वाले पलायन पर लगेगी रोक, सरकार ने विशेषज्ञों की बनाई कमेटी

देहरादून। पहाड़ों से होने वाले पलायन को रोकने के लिए त्रिवेन्द्र रावत सरकार कई कदम उठा रही है। अब सरकार की तरफ से वहां के मसालों और पहाड़ों में उगने वाली जड़ी-बूटियों पर ध्यान केन्द्रित करने जा रही है। इसके लिए सरकार की तरफ से तीन कमेटी भी गठित कर दी गई है। त्रिवेन्द्र रावत सरकार ने अब नौजवानों की मदद के लिए फल-पौधशाला कानून और नियमावली बनाने की तैयारी कर रही है।

 

विशेषज्ञों की कमेटी

गौरतलब है कि उत्तराखंड में पहाड़ी इलाकों से होने वाला पलायन हमेशा से एक बड़ा मुद्दा रहा है। त्रिवेन्द्र रावत सरकार ने अब ऐसे नौजवानों की मदद के लिए फल-पौधशाला कानून और नियमावली बनाने की तैयारी कर रही है। इसके लिए लिए विशेषज्ञों की अलग-अलग कमेटियां भी बना दी गई हैं। इस समिति को 15 दिन के भीतर रिपोर्ट देनी होगी। उद्यान निदेशक डॉ. बीएस नेगी इसके अध्यक्ष बनाए गए हैं। इसके अलावा फल-सब्जी और जड़ी-बूटी के विशेषज्ञ नृपेंद्र चौहान, डॉ. बीपी नौटियाल, डॉ. एसके सिंह, डॉ. डीसी डिमरी, डॉ. आरके सिंह और डॉ. बीपी भट्ट को समिति सदस्य बनाया है।


ये भी पढ़ें - उत्तरकाशी में गंगा नदी पर बना पुल टूटा, भारत-चीन सीमा और हर्षिल घाटी से संपर्क कटा

निवेशकों को आकर्षित करने में मदद

आपको बता दें कि राज्य में जड़ी-बूटी, कृषि और चाय के विकास के लिए अपर सचिव उद्यान की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई है। इस समिति में उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण चौबटिया, जड़ी-बूटी शोध एवं विकास संस्थान गोपेश्वर, चाय विकास बोर्ड के निदेशकों के साथ ही भेषज इकाई के सीईओ, सगंध पौधा केंद्र सेलाकुई के वैज्ञानिक प्रभारी और सचिव राजस्व की ओर से नामित प्रतिनिधि सदस्य होंगे। ऐसा होने से पलायन को रोकने और निवेशकों को राज्य में आकर्षित करने में मदद मिलेगी।

Todays Beets: