Monday, February 19, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

औली में अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग प्रतियोगिता के लिए तैयारियां तेज, सरकार ने दी निर्माण के मानकों में ढील

अंग्वाल न्यूज डेस्क
औली में अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग प्रतियोगिता के लिए तैयारियां तेज, सरकार ने दी निर्माण के मानकों में ढील

देहरादून। औली में अन्तरराष्ट्रीय स्कीइंग प्रतियोगिता कराने को लेकर फेडरेशन से फटकार मिलने के बाद सरकार ने वहां कोशिशें तेज कर दी हैं। वहां निर्माणकार्यों के मानकों में सरकार ने ढील देने का ऐलान किया है। इसके तहत जीएमवीएन को स्कीइंग स्लोप, सड़क व मशीनों को दुरुस्त करने की जिम्मेदारी दी गई है। वहीं स्नो मशीन के लिए फ्रांस की कंपनी को एकल टेंडर के जरिए काम देने का निर्णय लिया गया है।

निर्माण के मानकों में ढील

गौरतलब है कि आने वाले साल में 15 जनवरी से 21 जनवरी तक (आइएफएस) इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ स्कीइंग रेस का आयोजन किया जाने वाला है। स्पोर्ट्स फेडरेशन आॅफ इंडिया द्वारा फटकार मिलने के बाद सरकार की तरफ से काम में तेजी लाई गई है। वहां जरूरी बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए निर्माण कार्य किए जा रहे हैं लेकिन सरकार द्वारा निर्माणकार्यों के मानकों में थोड़ी ढील देने का ऐलान किया है। आपको बता दें कि इस अंतरराष्ट्रीय रेस में देश और विदेश के खिलाड़ियों के शिरकत करने की संभावना है। 

ये भी पढ़ें - यूपीसीएल को लापरवाही पर विद्युत नियामक आयोग ने दिया जोर का झटका, लगाया 14 करोड़ 58 लाख का जुर्माना


नई नियमावली बनेगी

आपको बता दें कि इसके तहत निर्माण कार्यों एवं स्नो मशीन को दुरुस्त करने के लिए की जाने वाली प्रक्रिया में ढील दी गई है। स्नो मशीन ठीक करने का कार्य फ्रांस की कंपनी को दिया गया है। इसकी प्रस्तावित लागत 5 करोड़ रुपये रखी गई है। यहां बता दें कि उत्तराखंड की कैबिनेट ने अब प्रदेश में सराय एक्ट को समाप्त करने को मंजूरी प्रदान कर दी है। इस एक्ट को पिछली कैबिनेट में पेश किया गया था जिसे अब मंजूरी प्रदान कर दी गई है। इसके तहत अब इस संबंध में सत्र में प्रस्ताव लाया जाएगा वहां मंजूरी मिलते ही यह एक्ट समाप्त हो जाएगा।  इसके बाद प्रदेश में होटलों के पंजीकरण के लिए बनाई गई नियमावली अस्तित्व में आ जाएगी। 

 

Todays Beets: