Monday, November 20, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

एनजीटी के मानकों पर खरी नहीं उतरी हेली सर्विस, सरकार ने सभी उड़ानों पर लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एनजीटी के मानकों पर खरी नहीं उतरी हेली सर्विस, सरकार ने सभी उड़ानों पर लगाई रोक

देहरादून।  भगवान केदार के दर पर हेलीकाॅप्टर के जरिए पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की परेशानियां बढ़ सकती हैं।   केदारनाथ की यात्रा पर जाने वाले बुजुर्ग  में हेलीकाॅप्टर सेवा देने वाली कंपनियों पर सरकार ने रोक लगा दी है। इन कंपनियों की लगातार लापरवाही और एनजीटी के मानकों को पूरा न करने की शिकायत आ रही है। अब सरकार ने साफ कर दिया है कि एनजीटी से क्लीन चिट मिलने के बाद ही उड़ान सेवा शुरू की जाएगी। आपको बता दें कि सरकार ने केदारनाथ में 11 कंपनियों को हवाई सेवा संचालन की इजाजत दी थी जिसमें से 9 कंपनियां वहां अपनी सेवाएं दे रही थीं। एनजीटी ने कड़ी शर्तों और मानकों को पूरा करने के बाद ही केदारनाथ सेंचुरी में उड़ान की इजाजत दी थी और सरकार को मॉनीटरिंग के लिए कहा था सरकारी अधिकारियों की लापरवाही के कारण कंपनियां नियम कानून की धज्जियां उड़ाती रहीं लेकिन उस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। यहां यह बता दें कि यूकॉडा के चेयरमैन मुख्य सचिव रामास्वामी खुद हैं। अब जब सरकार को हेली सेवाओं की एनजीटी में रिपोर्ट देनी है तो कंपनियों पर नकेल कसने की कोशिश हो रही है। ऐसे में सभी उड़ानों पर रोक लगा दी गई है। अपर सचिव नागरिक उड्डयन डाॅक्टर आर राजेश कुमार ने बताया कि सभी कंपनियों से रिपोर्ट मांगी गई थी पर कुछ ने ही रिपोर्ट जमा की है। सीएम भी एनजीटी को रिपोर्ट देने में हो रही देरी से काफी नाराज हैं।

 

ये भी पढ़ें - मौसम में बदलाव के बावजूद लोगों की मुसीबतें नहीं हो रही कम, मलबा गिरने से यमुनोत्री हाईवे बंद,...


 

Todays Beets: