Tuesday, July 17, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

एनजीटी के मानकों पर खरी नहीं उतरी हेली सर्विस, सरकार ने सभी उड़ानों पर लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एनजीटी के मानकों पर खरी नहीं उतरी हेली सर्विस, सरकार ने सभी उड़ानों पर लगाई रोक

देहरादून।  भगवान केदार के दर पर हेलीकाॅप्टर के जरिए पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की परेशानियां बढ़ सकती हैं।   केदारनाथ की यात्रा पर जाने वाले बुजुर्ग  में हेलीकाॅप्टर सेवा देने वाली कंपनियों पर सरकार ने रोक लगा दी है। इन कंपनियों की लगातार लापरवाही और एनजीटी के मानकों को पूरा न करने की शिकायत आ रही है। अब सरकार ने साफ कर दिया है कि एनजीटी से क्लीन चिट मिलने के बाद ही उड़ान सेवा शुरू की जाएगी। आपको बता दें कि सरकार ने केदारनाथ में 11 कंपनियों को हवाई सेवा संचालन की इजाजत दी थी जिसमें से 9 कंपनियां वहां अपनी सेवाएं दे रही थीं। एनजीटी ने कड़ी शर्तों और मानकों को पूरा करने के बाद ही केदारनाथ सेंचुरी में उड़ान की इजाजत दी थी और सरकार को मॉनीटरिंग के लिए कहा था सरकारी अधिकारियों की लापरवाही के कारण कंपनियां नियम कानून की धज्जियां उड़ाती रहीं लेकिन उस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। यहां यह बता दें कि यूकॉडा के चेयरमैन मुख्य सचिव रामास्वामी खुद हैं। अब जब सरकार को हेली सेवाओं की एनजीटी में रिपोर्ट देनी है तो कंपनियों पर नकेल कसने की कोशिश हो रही है। ऐसे में सभी उड़ानों पर रोक लगा दी गई है। अपर सचिव नागरिक उड्डयन डाॅक्टर आर राजेश कुमार ने बताया कि सभी कंपनियों से रिपोर्ट मांगी गई थी पर कुछ ने ही रिपोर्ट जमा की है। सीएम भी एनजीटी को रिपोर्ट देने में हो रही देरी से काफी नाराज हैं।

 

ये भी पढ़ें - मौसम में बदलाव के बावजूद लोगों की मुसीबतें नहीं हो रही कम, मलबा गिरने से यमुनोत्री हाईवे बंद,...


 

Todays Beets: