Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

उत्तराखंड सरकार गौरक्षा के लिए उठाने जा रही बड़ा कदम, जारी होंगे पहचान पत्र

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड सरकार गौरक्षा के लिए उठाने जा रही बड़ा कदम, जारी होंगे पहचान पत्र

देहरादून। पूरे देश में गौरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने एक अनोखा कदम उठाने जा रही है। प्रदेश सरकार गौरक्षकों के पहचान पत्र जारी करेगी। बड़ी बात यह है कि ऐसा करने वाला उत्तराखंड पहला राज्य होगा, यहां ऐसे लोगों को गौरक्षक की जगह गौसंरक्षक के नाम से जाना जाएगा। राज्य में गौ सेवा आयोग के चेयरमैन एनएस रावत ने बताया, ‘‘प्रदेश में सभी गोरक्षक अब गोसंरक्षक के नाम से जाने जाएंगे। इसके साथ ही सभी गोरक्षकों को पहचान पत्र जारी किया जाएगा। यह कदम इसलिए उठाया जा रहा, ताकि गाय के नाम पर हिंसा करने वाले गुंड़ों से असली गोरक्षकों को अलग किया जा सके।’’

गौरतलब है कि इन दिनों पूरे देश मंे गौरक्षा के नाम पर माॅब लिंचिंग को बढ़ावा दिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि उत्तराखंड सरकार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कुछ समय पहले दिए गए बयान कि, कुछ असामाजिक तत्व गौरक्षा के नाम पर हिंसा को बढ़ावा दे रहे हैं। रावत ने कहा कि 13 में से 6 जिलों में असली गोरक्षकों की पहचान की गई है और उन्हें पहचान पत्र जारी किया जाएगा। 

ये भी पढ़ें - हाईकोर्ट ने सरकारी महिला कर्मियों को दी बड़ी राहत, अब तीसरे बच्चे के जन्म पर भी मिलेगा मातृत्व अवकाश


यहां बता दें कि राज्य के सभी 13 जिलों में जानवरों की सुरक्षा एवं कल्याण के लिए समिति का गठन किया जा रहा है जिसके प्रमुख जिलाधिकारी होंगे और इसमें एसएसपी और सीडीओ को भी शामिल किया जाएगा। 

गौर करने वाली बात है कि पिछले दिनों राजस्थान में गौरक्षा के नाम पर एक युवक की हत्या कर दी गई थी जिसके बाद पुलिस पर भी कई सवाल उठे थे। इस घटना के बाद अब राजस्थान में मौजूद गौरक्षकों की सूची तैयार की जा रही है, इसके साथ ही सभी थानों को भी ऐसा करने के निर्देश दिए हैं। 

Todays Beets: