Monday, November 19, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

राज्य के 140 निजी स्कूलों को हाईकोर्ट के आदेश का उल्लंघन पड़ा महंगा, अब होगी कार्रवाई 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राज्य के 140 निजी स्कूलों को हाईकोर्ट के आदेश का उल्लंघन पड़ा महंगा, अब होगी कार्रवाई 

देहरादून। उत्तराखंड के करीब 140 प्राईवेट स्कूलों पर कार्रवाई की तलवार लटक गई है। हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद ये स्कूल अभिभावकों से महंगी किताबें खरीदवा रहे हैं। अब इन स्कूलों को दी गई राज्य स्तरीय एनओसी को वापस लेने के लिए  नोटिस जारी किया जा रहा है। राज्य सरकार इन स्कूलों द्वारा आदेश के उल्लंघन की रिपोर्ट हाईकोर्ट में रखेगी। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने विभागीय समीक्षा करते हुए स्कूलों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। 

गौरतलब है कि उत्तराखंड में निजी स्कूलों के द्वारा महंगी किताबें खरीदवाने की शिकायत लगातार शिक्षा विभाग को की जा रही थी। इन शिकायतों की जांच के लिए गठित टीम की रिपोर्ट के आधार पर ही करीब 140 स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। यहां बता दें कि अभिभावकों की शिकायत के बाद करीब 226 निजी स्कूलों में जांच की गई थी। शिक्षा विभाग के 60 अफसरों ने देहरादून के 77, हरिद्वार के 53, नैनीताल के 77 और यूएसनगर के 19 स्कूलों की जांच की और पाया कि इनमें 70 फीसदी में हाईकोर्ट के आदेशों का उल्लंघन किया जा रहा है। किताबें भी महंगी खरीदवाई जा रही हैं और उनका ब्योरा भी सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें - अगले महीने होने वाले इंवेस्टर्स समिट की तैयारियां जोरों पर, उद्यमियों की पहल का पीएम लेंगे जायजा 


गौर करने वाली बात है कि शिक्षा मंत्री ने महापुरुषों की जयंती-पुण्य तिथि पर नियमित कार्यक्रम, हर स्कूल में वार्षिकोत्सव और डायट में ट्रेनी की संख्या के अनुसार योग्य प्रशिक्षकों की नियुक्ति के निर्देश भी दिए। शिक्षा मंत्री ने 10 और उससे कम छात्रों वाले स्कूलों की जांच रिपोर्ट में बरती जा रही लापरवाही को लेकर भी अपनी नाराजगी जताई है और जल्द कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।  

Todays Beets: