Monday, April 22, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

हल्द्वानी समेत कुमाऊं के तराई क्षेत्र में गर्मी ने किया चित्त, अप्रैल में ही पारा 37 डिग्री तक पहुंचा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हल्द्वानी समेत कुमाऊं के तराई क्षेत्र में गर्मी ने किया चित्त, अप्रैल में ही पारा 37 डिग्री तक पहुंचा

हल्द्वानी । उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में मार्च अंत तक हो रही बर्फबारी ने लोगों को आस दिलाई थी कि इस बार गर्मी देर से आएगी और शायद अपना प्रचंड रूप नहीं दिखाएगी । इस सब से इतर मार्च में पड़ी बर्फ अब पहाड़ी इलाकों में पिघलने लगी है और कुमाऊं के तराई वाले इलाकों में झुलसा देने वाली गर्मी शुरू हो गई है, जिसके चलते लोगों की आफत आ गई है । हल्द्वानी में पिछले 1-2 दिनों से तापमान 37 डिग्री के करीब पहुंच गया है, जबकि रूद्रप्रयाग में पारा 38 डिग्री तक पहुंच गया है । सुबह से शाम होने तक इस तेज झुलसा देने वाली गर्मी ने तराई क्षेत्र के लोगों को 'चित्त' कर दिया है । हालांकि मौसम विभाग ने मंगलवार से तराई और भाबर वाले इलाके में एक बार फिर से आंधी - तेज हवाओँ के साथ ओले पड़ने का भी पूर्वानुमान जारी किया है ।

रविवार सीजन का सबसे गर्म दिन

हालांकि अभी गर्मी का सीजन शुरू ही हुआ है लेकिन रविवार को हल्द्वानी में लोगों के पसीने छूट गए । सुबह से शाम तक सड़कों पर भीड़ न के बराबर दिखी । बाजार सूने दिखाई दिए तो लोग अपने जरूरी काम के लिए ही घर से निकले । रविवार को दिन का तापमान 36.7 डिग्री दर्ज किया गया , जो इस सीजन का सबसे गर्म दिन साबित हुआ ।

न्यूनतम तापमान में भी इजाफा

इस दौरान चौंकाने वाली बात यह रही कि हल्द्वानी में न्यूनतम तापमान भी 17 .5 डिग्री दर्ज किया गया, जिसके चलते लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा । अधिकतम तापमान के साथ न्यूनतम तापमान में हुए इजाफे के चलते लोग घरों से नहीं निकले । बाजार और सड़कों पर इस दौरान सन्नाटा पसरा रहा।


अधिक गर्मी पड़ेगी

वहीं मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इस बार अन्य वर्षों की तुलना में ज्यादा गर्मी पड़ेगी । पारा भी तेजी से ऊपर चढ़ेगा । हालांकि मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि 16 अप्रैल को तराई और भाबर इलाके में तेज हवाओं के साथ और पहाड़ी इलाकों में ओलावृष्टि के साथ बारिश की पूर्वानुमान जारी किया है ।

 

 

 

Todays Beets: