Monday, July 16, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

पीएम की महत्वाकांक्षी योजना में ‘बाबुओं’ की सुस्ती पर बरसे मंत्री, अपर सचिव को पत्र लिखकर जताई नाराजगी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पीएम की महत्वाकांक्षी योजना में ‘बाबुओं’ की सुस्ती पर बरसे मंत्री, अपर सचिव को पत्र लिखकर जताई नाराजगी

देहरादून। उत्तराखंड में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना सरकारी बाबुओं की लापरवाही का शिकार हो रही है। अफसरशाही की इस लापरवाही पर श्रम मंत्री डाॅक्टर हरक सिंह रावत ने सख्त नाराजगी जताई है। उन्होंने अपनी नाराजगी को जाहिर करते हुए अपर मुख्य सचिव-कौशल विकास को पत्र लिखा है। हरक सिंह रावत ने अपने पत्र में कौशल विकास केंद्रों के चयन पर भी सवाल उठाया है। उन्होंने इसमें बड़े गड़बड़झाले की बात करते हुए कहा कि अगर कौशल विकास के प्रशिक्षण कार्यक्रमों की जांच करा दी जाए तो फर्जीवाड़े सामने आ जाएंगे।

गौरतलब है कि अप्रैल में दिल्ली में हुई बैठक में जहां बाकी राज्यों ने अपने मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव और अन्य लोगों को भेजा था वहीं उत्तराखंड ने सिर्फ एक ही अधिकारी को भेजकर खानापूर्ति कर दी थी। प्रदेश सरकार की ओर से जिस अधिकारी को बैठक में शामिल होने के लिए भेजा गया था उनके पास पूरी जानकारी भी नहीं थी। मामला बिगड़ता हुआ देखकर डाॅक्टर रावत ने खुद ही मोर्चा संभाला था। 

ये भी पढ़ें - मौसम के तल्ख मिजाज ने बढ़ाई उत्तराखंड के लोगों की मुसीबतें, ऋषिकेश में भूस्खलन से लगा जाम 


यहां बता दें कि कौशल विकास योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना है और इसके लिए देश के सभी राज्यों में कौशल विकास केन्द्र की स्थापना की गई है। उत्तराखंड में इस योजना के तहत चल रहे केंद्रों में बड़े पैमाने पर गड़बड़झाले की खबरें सामने आ रही हैं। श्रम मंत्री डाॅक्टर हरक सिंह रावत ने इन केन्द्रों के चयन पर ही सवाल उठाते हुए कहा कि अगर इसमें दिए जा रहे प्रशिक्षण कार्यक्रमों की जांच करा दी जाए तो फर्जीवाड़ा खुद ही सामने आ जाएगा।  

अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा, मंत्री जी का पत्र प्राप्त हुआ है। कौशल विकास का कार्य मुख्य सचिव पंकज पांडे देख रहे हैं। मैंने उनसे रिपोर्ट मांगी हैं। मंत्री जी को जल्द ही रिपेार्ट दे दी जाएगी।

Todays Beets: