Thursday, October 19, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

सरकार की शराब नीति पर हरदा का तंज, विरोध करने वाली भाजपा खुद बेच रही डेनिस ब्रांड

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सरकार की शराब नीति पर हरदा का तंज, विरोध करने वाली भाजपा खुद बेच रही डेनिस ब्रांड

देहरादून। राज्य सरकार की शराब और खनन नीति के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने जमकर हमला बोला है। हरदा ने कहा कि पहले राज्य में डेनिस ब्रांड की शराब का विरोध करने वाली भाजपा आज खुद घर-घर  इसकी बिक्री कर रही है। पूर्व मुख्यमंत्री ने मौजूदा सरकार पर जनविरोधी नीतियां बनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने लोगों के लिए जो गड्ढे खोदे हैं उसमें खुद ही जा गिरी है।

विदेशी शराब की बिक्री 

गौरतलब है कि त्रिवेन्द्र रावत सरकार की नीतियों पर हमला बोलते हुए हरीश रावत ने कहा कि राज्य के मिलिट्री कैंटीन में खुले आम डेनिस शराब की बिक्री की जा रही है। सरकार पर तंज करते हुए हरदा ने कहा कि कभी बिक्री का विरोध करने वाले ही आज उसकी खरीद-फरोख्त में जुटी हुई है। 

ये भी पढ़ें - मुख्यमंत्री ने अल्मोड़ा में की राष्ट्रीय वयोश्री योजना की शुरुआत, बुजुर्गों को मिलेगी हर मुमकिन मदद


हरदा करेंगे केदारनाथ के दर्शन

आपको बता दें कि सरकार की खनन नीति को भी हरदा ने जनविरोधी बताया है। उन्होंने कहा कि सरकारी क्षेत्रों पर खनन का लाईसेंस प्राईवेट लोगों के हवाले किया जा रहा है। खुद के चुनाव लड़ने के सवाल पर हरदा ने कहा कि उन्होंने कभी चुनाव लड़ने से इंकार नहीं किया है। उन्होंने सिर्फ इतना कहा था कि वे अब 2009 वाले हरीश रावत नहीं रहे। पार्टी और आला कमान से जो भी निर्देश मिलेगा उसका पालन किया जाएगा। बता दें कि खराब स्वास्थ्य से उबरने के बाद हरीश रावत 15 अक्टूबर को भगवान केदारनाथ के दर्शन करेंगे। 

Todays Beets: