Wednesday, October 17, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

आने वाले 48 घंटे हो सकती है आफत की बारिश, भूस्खलन ने रोकी भक्तों की राह

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आने वाले 48 घंटे हो सकती है आफत की बारिश, भूस्खलन ने रोकी भक्तों की राह

देहरादून। उत्तराखंड के लोगों को मौसम का मिजाज अभी और परेशान करने वाला है। मौसम विभाग ने सोमवार और मंगलवार को भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग ने चारधाम समेत राज्य के अन्य हिस्सों में भी बारिश की संभावना जताई है। बता दें कि प्रदेश में कई दिनों से लगातार भारी बारिश हो रही है। गंगोत्री, उत्तरकाशी और टिहरी में पहाड़ों से भारी भूस्खलन होने से सैंकड़ों संपर्क सड़कें अभी भी बंद पड़ी हैं। हालांकि प्रशासन की ओर से जेसीबी मशीनों को लगाकर रास्तों को खोलने का प्रयास किया जा रहा है। 

गौरतलब है कि राज्य के ज्यादातर हिस्सों में पिछले कई दिनों से भारी बारिश का  दौर जारी है। हरिद्वार और ऋषिकेश में गंगा नदी खतरे के निशान के करीब पहुंच गई है। ऐसे में कई घाटों के डूबने की खबरें भी आ रही हैं। टिहरी और उत्तरकाशी में लगातार पहाड़ों से मलबा गिरने से रास्ते बंद हो गए हैं। रास्तों के बंद होने से सैकड़ों की संख्या में कांवडिए भी फंस गए हैं। अब मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इससे लोगों के साथ ही कांवड़ियों की मुश्किलों में भी इजाफा कर दिया है।

ये भी पढ़ें - नैनीताल के ‘दीवान नाथ’ ने देश रक्षा में दिया सर्वोच्च बलिदान, मेघालय में उग्रवादियों से मुठभे...


यहां बता दें कि आज से सावन का महीना शुरू हो गया है और पहला सोमवार होने की वजह से बड़ी संख्या में कांवड़िए राज्य में आ रहे हैं लेकिन पहाड़ों से होने वाले भूस्खलन ने उनकी राह मुश्किलों से भर दी हैं। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने कहा है कि कुमाऊं क्षेत्र के लिए  भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। भारी बारिश की वजह से राज्य की 197 सड़कें बंद हो गई हैं। लोक निर्माण विभाग ने बताया कि सबसे अधिक सड़कें देहरादून, चमोली, टिहरी और पौड़ी जिलों में बंद हैं। विभाग की ओर से इन सभी सड़कों को खोलने का सिलसिला जारी है। 

Todays Beets: