Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

मौसम का मिजाज कर सकता है वीकेंड का मजा किरकिरा, 72 घंटों तक भारी बारिश का अलर्ट जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मौसम का मिजाज कर सकता है वीकेंड का मजा किरकिरा, 72 घंटों तक भारी बारिश का अलर्ट जारी

देहरादून। उत्तराखंड के लोगों को सप्ताह के अंत में भी मौसम के तल्ख मिजाज से निजात नहीं मिलने वाली है। मौसम विभाग ने शनिवार को अगले 72 घंटों के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है। इसके साथ ही कई जगहों पर बादल फटने की भी संभावना जताई गई है। बता दें कि पिछले कई दिनों से प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में मूसलाधार बारिश हो रही है। शुक्रवार से ही देहरादून में हो रही तेज बारिश के कारण सड़कों पर तालाब का नजारा दिखने लगे। गाड़ियों की रफ्तार पर ब्रेक लग गया। ऐसे में मौसम विभाग की नई चेतावनी ने लोगों की मुसीबतों में और इजाफा कर दिया है। 

गौरतलब है कि लगातार हो रही तेज बारिश के चलते कई जिलों में संपर्क रास्ते बंद हो गए हैं। प्रशासन और एसडीआरएफ की टीम बंद सड़कों को खोलने में जुटी हुई है लेकिन बारिश के कारण उन्हें काम करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यहां बता दें कि लगातार हो रही बारिश के कारण दून में बहने वाली रिस्पना और बिंदाल नदियां पूरे उफान पर आ गई हैं।  वहीं कई क्षेत्रों में पेयजल लाइन भी बह गई हैं। बारिश को देखते हुए नदी किनारे बसी बस्तियों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। 

ये भी पढ़ें - राज्य के स्कूलों में शिक्षकों की समस्या होगी दूर, अगले महीने तैनात होंगे 1500 एलटी शिक्षक


यहां बता दें कि राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश के चलते नदियों को पार करने वाली छोटी पुलिया के बह जाने से स्कूली छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सैंकड़ों गांवों का संपर्क जिला मुख्यालय से पूरी तरह से कट चुका है जिससे लोगों की परेशानियों में बेतहाशा इजाफा हो गया है। ऐसे में मौसम विभाग द्वारा शनिवार को भारी बारिश की चेतावनी ने आम लोगों की मुसीबतों को और बढ़ा दिया है। 

मौसम के तल्ख तेवरों को देखते हुए राज्य सरकार की ओर से एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, लोक निर्माण विभाग और सीमा सड़क संगठन को भी हालात के अनुसार तैयार रहने को कहा गया है। शासन ने जिला प्रशासन को निर्देश दिए है कि पर्यटकों को उच्च हिमालयी क्षेत्रों में न भेजा जाए।

Todays Beets: