Sunday, February 17, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

रुद्रप्रयाग के ऊखीमठ में 3 फीट बर्फ में 10 किमी पैदल चला दुल्हा-बारात, फिर जाकर हो पाई शादी

अंग्वाल संवाददाता
रुद्रप्रयाग के ऊखीमठ में 3 फीट बर्फ में 10 किमी पैदल चला दुल्हा-बारात, फिर जाकर हो पाई शादी

रुद्रप्रयाग । उत्तराखंड में पिछले कुछ दिनों से कई इलाकों में हो रही रुक-रुक कर बर्फबारी ने अब लोगों को आफत में डाल दिया है। देवभूमि के पहाड़ी इलाकों में कई फीट बर्फबारी होने के बाद लोग घरों में कैद होने को मजबूर हो गए हैं। ऐसे में वहां होने वाले शादी समारोह किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं रह गए हैं। कुछ ऐसा ही एक मंजर रुद्रप्रयाग में सामने आया है , जहां बर्फबारी के चलते बंद हुए रास्तों का खामियाजा एक बराता को भुगतना पड़ा। बारात 3 फीट मोदी बर्फ की चादरों को पार करती हुई शादी समारोह स्थल तक पहुंची और फिर शादी हो सकी। 

पूरा मामला रुद्रप्रयाग से 80 किलोमीटर दूर ऊखीमठ ब्लाक इलाके का है। यहां त्रियुगीनारायण गांव निवासी हर्षमणि के बेटे रजनीश की शादी थी। लेकिन भारी बर्फबारी से गांव आने और जाने के सारे रास्ते बंद हो गए थे। भारी बर्फबारी के चलते तय हुआ कि कुछ ही लोग बारात में जाएंगे। बारात निकट के ही गांव मक्कूमठ में जानी थी, जहां जाने के रास्ते पर भी भारी बर्फबारी हुई थी। 


बहरहाल , किसी तरह कुछ कारों में सवार होकर लोग बारात लेकर निकले , लेकिन रास्ते में भारी बर्फबारी के चलते कार को आगे ले जाना संभव नहीं हुआ। ऐसे मे दुल्हा रजनीश अन्य बारातियों के साथ बर्फ में 10 किमी तक पैदल चलकर शादी समारोह स्थल पर पहुंचा। भारी बर्फबारी के चलते घर के भीतर ही शादी की सारी रस्में हुईं, इसके बाद भारी मुश्किलों का सामना करते हुए बाराती अगले दिन बारात लेकर अपने घर पहुंचे। 

Todays Beets: