Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

रुद्रप्रयाग के ऊखीमठ में 3 फीट बर्फ में 10 किमी पैदल चला दुल्हा-बारात, फिर जाकर हो पाई शादी

अंग्वाल संवाददाता
रुद्रप्रयाग के ऊखीमठ में 3 फीट बर्फ में 10 किमी पैदल चला दुल्हा-बारात, फिर जाकर हो पाई शादी

रुद्रप्रयाग । उत्तराखंड में पिछले कुछ दिनों से कई इलाकों में हो रही रुक-रुक कर बर्फबारी ने अब लोगों को आफत में डाल दिया है। देवभूमि के पहाड़ी इलाकों में कई फीट बर्फबारी होने के बाद लोग घरों में कैद होने को मजबूर हो गए हैं। ऐसे में वहां होने वाले शादी समारोह किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं रह गए हैं। कुछ ऐसा ही एक मंजर रुद्रप्रयाग में सामने आया है , जहां बर्फबारी के चलते बंद हुए रास्तों का खामियाजा एक बराता को भुगतना पड़ा। बारात 3 फीट मोदी बर्फ की चादरों को पार करती हुई शादी समारोह स्थल तक पहुंची और फिर शादी हो सकी। 

पूरा मामला रुद्रप्रयाग से 80 किलोमीटर दूर ऊखीमठ ब्लाक इलाके का है। यहां त्रियुगीनारायण गांव निवासी हर्षमणि के बेटे रजनीश की शादी थी। लेकिन भारी बर्फबारी से गांव आने और जाने के सारे रास्ते बंद हो गए थे। भारी बर्फबारी के चलते तय हुआ कि कुछ ही लोग बारात में जाएंगे। बारात निकट के ही गांव मक्कूमठ में जानी थी, जहां जाने के रास्ते पर भी भारी बर्फबारी हुई थी। 


बहरहाल , किसी तरह कुछ कारों में सवार होकर लोग बारात लेकर निकले , लेकिन रास्ते में भारी बर्फबारी के चलते कार को आगे ले जाना संभव नहीं हुआ। ऐसे मे दुल्हा रजनीश अन्य बारातियों के साथ बर्फ में 10 किमी तक पैदल चलकर शादी समारोह स्थल पर पहुंचा। भारी बर्फबारी के चलते घर के भीतर ही शादी की सारी रस्में हुईं, इसके बाद भारी मुश्किलों का सामना करते हुए बाराती अगले दिन बारात लेकर अपने घर पहुंचे। 

Todays Beets: