Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

उत्तराखंड में मौसम का कहर जारी, कैम्प्टी फाॅल में सैलाब आने से दुकानों को भारी नुकसान, प्रशासन ने रास्ते किए बंद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड में मौसम का कहर जारी, कैम्प्टी फाॅल में सैलाब आने से दुकानों को भारी नुकसान, प्रशासन ने रास्ते किए बंद

देहरादून। उत्तराखंड के कई इलाकों में मौसम का कहर जारी है। पौड़ी जिले के कलुण गांव में भारी बारिश के बाद गदेरे में आए तेज बहाव की चपेट में आने से 2 मकान पूरी तरह से ध्वस्त हो गए। इसके साथ ही कई मवेशियों के भी बह जाने की खबर है। ताजा खबरों के अनुसार मसूरी के कैम्पटी फाॅल में पानी का तेज बहाव आने से आसपास की दुकानों में पानी भर गया है। पुलिसकर्मियों ने वहां घूमने आए पर्यटकों को सुरक्षित बाहर निकाला है। पर्यटकों और स्थानीय  लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर कैम्पटी फाॅल की ओर जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया गया है। 

गौरतलब है कि प्रदेश के कई हिस्सों मंे भारी बारिश का दौर जारी है। पौड़ी से लेकर टिहरी तक भारी बारिश की तबाही के निशान देखे जा सकते है। पौड़ी के कलुण गांव में गदेरे में आए तेज बहाव की चपेट में आने से 2 मकान पूरी तरह से ध्वस्त हो गए और बड़ी संख्या में मवेशी पानी के साथ बह गए। उपजिलाधिकारी और तहसीलदार को घटनास्थल पर भेजा गया है और राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। पहाड़ों की रानी मसूरी में कुदरत का कहर जारी है। मशहूर कैम्प्टी फाॅल में पानी का सैलाब आने से दुकानों को काफी नुकसान पहुंचा है। घूमने गए प्र्यटकों को पुलिसकर्मियों ने वहां से सुरक्षित बाहर निकाला है। इसके साथ ही सुरक्षा की दृष्टिकोण से कैम्प्टिी फाॅल का रास्ता बंद कर दिया गया है।  

ये भी पढ़ें - क्लीनिकल इश्टैब्लिशमेंट एक्ट में बदलाव न होने से प्राईवेट डाॅक्टर हुए नाराज, दी 15 सितंबर से ...


यहां बता दें कि भारी बारिश के रुद्रप्रयाग में अलखनंदा नदी पर पूरे उफान पर है। इसकी वजह से लोगों की परेशानियों में और इजाफा हो गया है। वहीं टिहरी जिले में पहाड़ों से लगातार हो रहे भूस्खलन के चलते कई गांवों में दहशत का माहौल फैल गया है। भारी बारिश के बाद टिहरी-घनसाली मार्ग बंद हो गया है। वहीं दूसरी ओर गंगोत्री और यमुनोत्री हाईवे भी मलबे के कारण बंद पड़ा है। उम्मीद की जा रही है कि इसे दोपहर बाद यात्रियों के लिए खोल दिया जाएगा।   

Todays Beets: