Monday, July 16, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

फिलहाल नहीं होंगे सहकारी समितियों के चुनाव, हाईकोर्ट ने 30 जुलाई तक लगाई अंतरिम रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फिलहाल नहीं होंगे सहकारी समितियों के चुनाव, हाईकोर्ट ने 30 जुलाई तक लगाई अंतरिम रोक

नैनीताल। उत्तराखंड में सहकारी समितियों की चुनाव प्रक्रिया पर हाईकोर्ट ने 30 जुलाई तक अंतरिम रोक लगा दी है। न्यायमूर्ति लोकपाल सिंह की एकलपीठ ने ऊधमसिंह नगर के रहने वाले एक शख्स के द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए प्रदेश सरकार से 2 सप्ताह के अंदर इस मामले में जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि ऊधमसिंह नगर निवासी राजेंद्र सिंह ने अपनी याचिका में सहकारी समिति के चुनाव में वार्डों का सही निर्धारण नहीं होने और ओबीसी उम्मीदवार के लिए एक भी सीट आरक्षित नहीं रखने का मामला उठाया था।

गौरतलब है कि राजेन्द्र सिंह ने अपनी याचिका में कहा कि सहकारी समितियों के चुनाव में वार्डों का सही निर्धारण नहीं किया गया है। एक वार्ड के कार्यक्षेत्र को दूसरे वार्ड में दिखा दिया गया है वहीं एक भी सीट ओबीसी के लिए आरक्षित नहीं की गई है।  वार्ड निर्धारण को लेकर की गई आपत्तियों की कोई सुनवाई नहीं की गई है और इनका निस्तारण भी नहीं किया गया। एकलपीठ ने मामले में सुनवाई के बाद प्रदेश में चल रही बहुद्देश्यीय सहकारी समितियों की चुनाव प्रक्रिया पर 30 जुलाई तक अंतरिम रोक लगा दी है।

ये भी पढ़ें- जलप्रलय की स्थिति झेल रहे उत्तराखंड के लिए 24 घंटे भारी, कुमाऊं और गढ़वाल दोनों मंडलों में भार...


यहां बता दें कि उत्तराखंड में करीब 1500 सहकारी समितियों में चुनाव होने वाले हैं। 759 पैक्स के लिए नामांकन भरने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी थी। सहकारी समितियों के चुनाव का पहला चरण 22 और 23 जुलाई को पूरा होना था। 

Todays Beets: