Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

एनएच घोटाले पर हाईकोर्ट सख्त, दिए सुधीर चावला को गिरफ्तार कर पेश करने के आदेश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एनएच घोटाले पर हाईकोर्ट सख्त, दिए सुधीर चावला को गिरफ्तार कर पेश करने के आदेश

देहरादून। राज्य के ऊधम सिंह नगर में हुए एनएच 74 मुआवजा घोटाले में अब हाईकोर्ट भी सख्त हे गया है। कोर्ट ने आरोपी एलाइड प्लस इंफ्रा एंड अदर प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक सुधीर चावला के खिलाफ वारंट जारी कर गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं और सरकार से उसे 8 मार्च को कोर्ट में पेश करने को कहा है। वहीं कोर्ट ने चवाला एवं प्रिया शर्मा की गिरफ्तारी पर रोक वाली याचिका को खारिज कर दिया है। बता दें कि चावला को बुधवार को ही कोर्ट में पेश होना था लेकिन वे नहीं पहुंचे इसके बाद हाईकोर्ट ने यह आदेश जारी किया है। 

गौरतलब है कि मुआवजा घोटाले की जांच कर रही एसआईटी ने सुधीर चावला और प्रिया शर्मा के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है। इसके बाद दोनों ने गिरफ्तारी पर रोक के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। अपनी याचिका में इन दोनों ने कहा है कि घोटालों से इनका कोई लेना-देना नहीं है जबकि दोनों पर एफआईआर में एनएच के कमीशन को ठिकाने लगाने के लिए फर्जी रूप से जमीन बेचने का आरोप है। 


ये भी पढ़ें - उत्तराखंड पीसीएस-जे की परीक्षा में बेटियों का रहा दबदबा, दून की पूनम बनी टाॅपर 

बता दें कि एनएच घोटाले के आरोपी काशीपुर निवासी स्टांप वेंडर जिशान के आरटीजीएस से आरोपियों के खाते में एक करोड़ 50 लाख रुपये डालने की पुष्टि हुई है। यह राशि जमीन खरीदने के नाम पर दी गई थी इसके अलावा कंपनी के अधिकारियों को 40 लाख रुपये नकद भी दिए गए। गौर करने वाली बात है कि 25 जून 2016 को हुए इकरारनामे में दिखाई गई फाजलपुर महरोला की 1450 वर्गमीटर जमीन भी पहले ही विवादित निकली है। नैनीताल कोर्ट से इसकी बिक्री पर स्टे लगाया था। 

Todays Beets: