Wednesday, December 19, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

सड़कों पर लावारिश घूमने वाली गायों पर हाईकोर्ट सख्त, कहा-सरकार 25 गांवों में तैयार कराए गोशाला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सड़कों पर लावारिश घूमने वाली गायों पर हाईकोर्ट सख्त, कहा-सरकार 25 गांवों में तैयार कराए गोशाला

देहरादून। सड़कों पर लावारिश घूमने वाली गायों को लेकर हाईकोर्ट ने सख्त आदेश दिए हैं। हाईकोर्ट ने जिला और नगर पंचायतों को गायों को गोशाला में रखने और उनका दूध बेचकर मिलने वाली धनराशि ने उनकी परवरिश के आदेश दिए हैं। रुड़की में बिना लाईसेंस के गोवंशीय जानवरों के मांस की बिक्री पर कोर्ट ने सरकार को 25 गांवों में गोशालाएं बनाने के आदेश दिए हैं। अदालत ने यह आदेश रुड़की के रहने वाले अलीम की याचिका पर सुनवाई करते हुए दी है। 

गौरतलब है कि इस याचिका पर सुनवाई करते हुए कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजीव शर्मा और न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी की खंडपीठ ने सरकार को निर्देश देते हुए कहा कि यह सुनिश्चित कराया जाए कि राज्य में कहीं भी गौ हत्या नहीं होगी। कोर्ट ने डीसीपी के नेतृत्व में एक कमेटी बनाने का भी निर्देश देते हुए कहा कि उसमें एक पशु चिकित्सक को भी शामिल किया जाए। 

ये भी पढ़ें - यूओयू को यूजीसी ने दिया बड़ा झटका, 77 कोर्स में से 72 कोर्स किया रद्द


यहां बता दें कि रुड़की के रहने वाले अलीम ने अपनी याचिका में कहा कि सौलापुर के गाड़ा में गोवंशीय जानवरों के मांस की बिक्री की जा रही है। उन्हांेने कहा कि हरिद्वार के एसएसपी से शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। गौर करने वाली बात है कि पिछली सुनवाई में हाईकोर्ट ने एसएसपी हरिद्वार को व्यक्तिगत रूप से कोर्ट में पेश होने के आदेश दिए थे। एसएसपी ने कोर्ट में पेश होकर कहा कि मामले की जांच की जा रही है। इसके लिए इंस्पेक्टर के नेतृत्व में टीम बनाई गई है।

 

Todays Beets: