Friday, August 17, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

सड़कों पर लावारिश घूमने वाली गायों पर हाईकोर्ट सख्त, कहा-सरकार 25 गांवों में तैयार कराए गोशाला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सड़कों पर लावारिश घूमने वाली गायों पर हाईकोर्ट सख्त, कहा-सरकार 25 गांवों में तैयार कराए गोशाला

देहरादून। सड़कों पर लावारिश घूमने वाली गायों को लेकर हाईकोर्ट ने सख्त आदेश दिए हैं। हाईकोर्ट ने जिला और नगर पंचायतों को गायों को गोशाला में रखने और उनका दूध बेचकर मिलने वाली धनराशि ने उनकी परवरिश के आदेश दिए हैं। रुड़की में बिना लाईसेंस के गोवंशीय जानवरों के मांस की बिक्री पर कोर्ट ने सरकार को 25 गांवों में गोशालाएं बनाने के आदेश दिए हैं। अदालत ने यह आदेश रुड़की के रहने वाले अलीम की याचिका पर सुनवाई करते हुए दी है। 

गौरतलब है कि इस याचिका पर सुनवाई करते हुए कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजीव शर्मा और न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी की खंडपीठ ने सरकार को निर्देश देते हुए कहा कि यह सुनिश्चित कराया जाए कि राज्य में कहीं भी गौ हत्या नहीं होगी। कोर्ट ने डीसीपी के नेतृत्व में एक कमेटी बनाने का भी निर्देश देते हुए कहा कि उसमें एक पशु चिकित्सक को भी शामिल किया जाए। 

ये भी पढ़ें - यूओयू को यूजीसी ने दिया बड़ा झटका, 77 कोर्स में से 72 कोर्स किया रद्द


यहां बता दें कि रुड़की के रहने वाले अलीम ने अपनी याचिका में कहा कि सौलापुर के गाड़ा में गोवंशीय जानवरों के मांस की बिक्री की जा रही है। उन्हांेने कहा कि हरिद्वार के एसएसपी से शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। गौर करने वाली बात है कि पिछली सुनवाई में हाईकोर्ट ने एसएसपी हरिद्वार को व्यक्तिगत रूप से कोर्ट में पेश होने के आदेश दिए थे। एसएसपी ने कोर्ट में पेश होकर कहा कि मामले की जांच की जा रही है। इसके लिए इंस्पेक्टर के नेतृत्व में टीम बनाई गई है।

 

Todays Beets: