Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

अब राज्य में होमगार्ड बतौर ट्रेडमैन भर्ती होंगे- त्रिवेन्द्र सिंह रावत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब राज्य में होमगार्ड बतौर ट्रेडमैन भर्ती होंगे- त्रिवेन्द्र सिंह रावत

देहरादून। राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कानून व्यवस्था को सुचारू बनाने में होमगार्ड्स के योगदान को काफी अहम बताया है। मुख्यमंत्री ने बताया कि इन्हें बतौर ट्रेडमैन भर्ती करने की मांग पर जल्द ही विचार किया जाएगा। इसके साथ ही शहरों में कानून व्यवस्था को और चुस्त दुरुस्त करने के लिए इनकी संख्या को और बढ़ाया जा सकता है। बता दें कि सीएम ने होमगार्ड की स्थापना दिवस के मौके पर ये बातें कहीं हैं। 

हर मौके पर तैनात

यहां बता दें कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने होमगार्ड जवानों कां संबोधित करते हुए कहा कि पूरे देश में सुरक्षित प्रदेशों की श्रेणी में उत्तराखंड दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। प्रदेश के यहां तक पहुंचाने में होमगार्ड्स का काफी अहम योगदान है। अब इसे पहले नंबर पर लाने के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि होमगार्ड के जवानों ने हर मोर्चे पर अपनी जिम्मेदारियां निभाई हैं फिर चाहे केदारनाथ जैसी आपदाएं हों या चुनाव ड्यूटियां। 

ये भी पढ़ें - फर्जी दस्तावेजों के आधार पर भर्ती हुए फाॅरेस्ट गार्डों पर तलवार, शासन ने मांगी सूची


सहायता राशि के चेक बांटे

गौर करने वाल बात है कि खाकी वर्दी, सिर पर साफा और एक साथ कदमताल करते होमगार्ड के जवान जब मैदान में परेड कर रहे थे तो उन्हें देख हर कोई रोमांचित नजर आया। इस परेड के दौरान होमगार्ड के कमांडो दस्ते, फायर ब्रिगेड और दंगा नियंत्रक वाहनों ने भी सबका ध्यान अपनी ओर खींचा। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर शहादत देने वाले दो होमगार्ड की पत्नियों को 5-5 लाख रुपये का चेक भी दिया। 

Todays Beets: