Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

हल्द्वानी के हंसपुर खत्ता में अवैध हथियार फैक्ट्री का खुलासा, खूफिया एजेंसी हुई सतर्क

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हल्द्वानी के हंसपुर खत्ता में अवैध हथियार फैक्ट्री का खुलासा, खूफिया एजेंसी हुई सतर्क

हल्द्वानी। ऐसा लगता है उत्तराखंड के जंगल और पहाड़ अवैध हथियार के तस्करों का अड्डा बनता जा रहा है। हल्द्वानी के हंसपुर खत्ता में अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। इसके बार खूफिया एजेंसी भी काफी सक्रिय हो गई है। खूफिया एजेंसी का मानना है कि माओवादी प्रदेश में अपनी पकड़ बनाने और अशांति फैलाने के लिए पहाड़ों का रुख कर रहे हैं। पुलिस द्वारा लगाए गए ट्रैपिंग कैमरे में एक तस्कर की तस्वीर आने के बाद डीआईजी ने रुद्रपुर पुलिस को जंगलों में तलाशी अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। 

 

गौरतलब है कि हल्द्वानी वन प्रभाग के डीएफओ ने पिछले दिनों पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर जंगल से हथियार बनाने वाले ब्लेड और नाल के साथ कई उपकरणों को बरामद किया था। जौलासाल में दो साल में दूसरी बार हथियार बनाने के उपकरण पकड़ने के बाद अधिकारी सतर्क हो गए हैं। पुलिस माओवादी गतिविधियों पर फिर नजर रखने का दावा कर रही है।


ये भी पढ़ें - सहस्त्रधारा के फर्नीचर गोदाम में लगी भीषण आग, घंटों मशक्कत के बाद आग पर पाया गया काबू

आपको बता दें कि पुलिस ने इससे पहले एक बड़े माओवादी नेता को गिरफ्तार किया था इसके बाद पुलिस अधिकारियों को उम्मीद थी कि उत्तराखंड में माओवादियों के आका खीम सिंह बोरा को गिरफ्तार कर लिया जाएगा लेकिन 6 महीने के बाद भी खीम सिंह और उसके साथी भास्कर पांडे का भी पता नहीं चल सका। बता दें कि पुलिस ने फरार भास्कर पांडे  को गिरफ्तार करने के लिए 5 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा है। खीम सिंह बोरा पर 2004 से 50 हजार का इनाम है। पुलिस को जांच से पता चला कि जेल में बंद देवेंद्र माओवादियों के ईस्टर्न रीजनल ग्रुप का सदस्य है।  हर सदस्य और पदाधिकारी को कोरियर के माध्यम से पैसे मिलते हैं। 

Todays Beets: