Saturday, December 15, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

साहसिक खेलों के शौकीनों को बड़ा झटका, औली में होने वाली स्कीइंग चैम्पियनशिप रद्द

अंग्वाल न्यूज डेस्क
साहसिक खेलों के शौकीनों को बड़ा झटका, औली में होने वाली स्कीइंग चैम्पियनशिप रद्द

देहरादून। साहसिक खेल और रोमांच के शौकीनों को एक बड़ा झटका लगा है। 15 जनवरी से औली में होने वाले विंटर गेम्स को उचित मात्रा में बर्फ न गिरने की वजह से रद्द कर दिया गया है। विंटर गेम्स फेडरेशन आॅफ इंडिया ने इंटरनेशनल स्कीइंग चैम्पियनशिप (एफआईएस रेस) को टाल दी है। अब इस पर 16 फरवरी के बाद इस पर कोई निर्णय लिया जाएगा। बता दें कि औली में 15 से 21 जनवरी तक एफआईएस रेस होनी थी। सरकार की तरफ से इसकी सारी तैयारियां भी कर ली गई थी।

स्कीइंग के अनुकूल नहीं परिस्थिति

गौरतलब है कि औली में अनुकूल परिस्थितियां न मिलने के चलते 15 जनवरी से होने वाली इंटरनेशनल स्कीइंग चैंपियनशिप (एफआईएस रेस) टाल दी गई है। विंटर गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने औली की मौजूदा स्थितियों को स्कीइंग के अनुकूल नहीं पाने के बाद आयोजन को 16 फरवरी तक टालने का फैसला लिया है। बता दें कि औली में विंटर गेम्स के आयोजन के लिए सरकार ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी लेकिन आयोजन की तैयारियों और मौसम की परिस्थितियों का जायजा लेने के लिए विंटर गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के तकनीकी विशेषज्ञों की टीम ने दौरा किया था। टीम ने मौसम की परिस्थितियों को आयोजन के अनुकूल नहीं माना है।

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड से रोपवे के जरिए जुड़ेंगे हिमाचल और जम्मू कश्मीर, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा


औली में ग्लोबल वाॅर्मिंग का असर

आपको बता दें कि फेडरेशन के अध्यक्ष कर्नल जेएस ढिल्लन ने राज्य सरकार को बताया कि ग्लोबल वार्मिंग की वजह से कम बर्फबारी हुई है और इसी वजह से आयोजन को टाला जा रहा है। बता दें कि औली में 15 जनवरी से 21 जनवरी तक इंटरनेशनल स्कीइंग चैम्पियनशिप का आयोजन किया जाना था। अब इस पर 16 फरवरी को कोई निर्णय लिया जाएगा।  औली में बर्फ जमने और स्नो मेकिंग मशीन से बर्फ बनाने के लिए न्यूनतम तापमान माइनस चार डिग्री से कम चाहिए था। बर्फ बनाने के लिए कम से कम 15 से 20 घंटे का समय चाहिए था, लेकिन यह महज दो से चार घंटे ही मिल पा रहा था। ऐसे में जो बर्फ बन भी रही थी, वो टिक नहीं पा रही थी।

 

Todays Beets: