Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

बेहतर सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराने वाले उत्तराखंड के जवानों को मिला राष्ट्रपति पुलिस पदक, गृह मंत्री ने किया सम्मानित

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बेहतर सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराने वाले उत्तराखंड के जवानों को मिला राष्ट्रपति पुलिस पदक, गृह मंत्री ने किया सम्मानित

दिल्ली/देहरादून। देश में सुरक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने में उत्तराखंड के नौजवानों से हमेशा से खास योगदान दिया है। इनमें आईटीबीपी में तैनात जवानों ने अहम भूमिका निभाई है। बेहतर सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराने के लिए आईटीबीपी में तैनात उत्तराखंड मूल के 10 जवानों को केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इन्हें राष्ट्रपति के पुलिस पदक से सम्मानित किया है। बता दें कि नई दिल्ली में आईटीबीपी की स्थापना दिवस के मौके पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जिसमें गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इन हिमवीरों को यह पदक प्रदान किए।

इन्हें मिला सम्मान

गौरतलब है कि राष्ट्रपति के पुलिस पदक से सम्मानित हिमवीरों में 8वीं वाहिनी गौचर में तैनात अल्मोड़ा निवासी सेनानी गिरीश चंद्र पुरोहित, दिल्ली मुख्यालय में तैनात उप सेनानी खांकरियों पौड़ी के अरुण कुमार, देहरादून मुख्यालय में तैनात सहायक सेनानी तरला नागला, देहरादून के होम बहादुर गुरुंग, दिल्ली में तैनात सहायक सेनानी गंगोरा पिथौरागढ़ के आनंद सिंह, आरटीसी एमपी में तैनात जौनसार बावर के दौलत सिंह, 12वीं वाहिनी मातली, उत्तरकाशी में तैनात सहायक सेनानी (दूरसंचार) कनोठ चमोली के प्रकाश सिंह, निरीक्षक करास लामरीधार टिहरी के मुकुट बिहारी उपाध्याय, गिदुरिया पौड़ी के कैलाश कोठियाल, सिमखोला पिथौरागढ़ के धन सिंह और रिटायर निरीक्षक सारन पौड़ी के फतेह सिंह शामिल हैं।

 


ये भी पढ़ें - अब एसआईटी 2012 से 2016 के बीच नियुक्त हुए शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की करेगी जांच, गड़बड़ी मिलन...

 

Todays Beets: