Sunday, January 21, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

प्रदेश में जमीन खरीदना हुआ महंगा, कैबिनेट ने सर्किल रेट में इजाफे पर लगाई मुहर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
प्रदेश में जमीन खरीदना हुआ महंगा, कैबिनेट ने सर्किल रेट में इजाफे पर लगाई मुहर

देहरादून। राज्य में अब जमीन खरीदने का सपना महंगा हो सकता है। राजस्व में इजाफा करने के मसद से सरकार ने आबादी वाले क्षेत्रों और खेती की जमीनों के सर्किल रेट बढ़ा दिए हैं। बता दें कि सर्किल रेट में बढ़ोतरी 2 सालों के बाद की गई है।  शुक्रवार को मंत्रिमंडल की कैबिनेट बैठक में सभी 13 जिलों में सर्किल रेट बढ़ाने के फैसले पर मुहर लगा दी गई।  देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंहनगर और नैनीताल जिलों में गैर कृषि और कृषि भूमि के सर्किल रेट अन्य जिलों की तुलना में काफी ज्यादा बढ़ाए गए हैं। 

जमीनों के दाम बढ़े

गौरतलब है कि जमीनों के सर्किल रेट को बढ़ाने का फैसला 2016 में लिया गया था लेकिन भारी विरोध के बाद सरकार को इसे वापस लेना पड़ा था। इसके बाद सर्किल रेट में 50 फीसद तक कमी की गई थी। इसके बाद केन्द्र सरकार द्वारा नोटबंदी करने के बाद जमीनों की खरीद-फरोख्त का धंधा काफी गिर गया था। ऐसे में सरकार सर्किल रेट बढ़ाने का साहस नहीं जुटा पाई। अब मंत्रिमंडल ने यह फैसला ले लिया है। राज्य में करीब 35 नगर निकायों की सीमाओं के विस्तार के बाद ग्रामीण क्षेत्रों को नगरों के दायरे में लाने के साथ ही सर्किल रेट में वृद्धि पर मंत्रिमंडल ने मुहर लगा दी।

ये भी पढ़ें - दून की अमिषा चौहान ने दक्षिण अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी को 54 घंटे में किया फतह, सीएम ने दी बधाई 

कैबिनेट के अहम फैसले

-देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल व ऊधमसिंह नगर जिले में आबादी क्षेत्रों में अकृषि भूमि के सर्किल रेट में दो फीसद से 233 फीसद तो कृषि भूमि में नौ फीसद से 400 फीसद तक वृद्धि 


-राज्य के पर्वतीय जिलों में गैर कृषि और कृषि भूमि के सर्किल रेट में तीन से 15 फीसद वृद्धि

-अल्मोड़ा, टिहरी और ऊधमसिंहनगर जिले के सितारगंज के कुछ क्षेत्रों में 30 फीसद तक घटे सर्किल रेट

-आबादी क्षेत्रों में सर्वाधिक सर्किल रेट में नैनीताल में 60 हजार रुपये प्रति वर्गमीटर, हरिद्वार में 56300 रुपये प्रति वर्गमीटर और ऊधमसिंहनगर जिले में चुनिंदा स्थानों पर 21 हजार रुपये प्रति वर्गमीटर तय हुईं दरें, देहरादून में राजपुर रोड में सर्वाधिक 50000 रुपये प्रति वर्गमीटर सर्किल रेट में नहीं हुआ इजाफा

-नगर निकायों के सीमा विस्तार में शामिल नए ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ाई गई हैं भूमि की दरें

-सड़कों का जाल बिछना और नए नगरीय क्षेत्रों में शामिल होना रहा सर्किल रेट बढ़ने का आधार

Todays Beets: