Tuesday, November 20, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

मौसम के तल्ख मिजाज ने बढ़ाई उत्तराखंड के लोगों की मुसीबतें, ऋषिकेश में भूस्खलन से लगा जाम 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मौसम के तल्ख मिजाज ने बढ़ाई उत्तराखंड के लोगों की मुसीबतें, ऋषिकेश में भूस्खलन से लगा जाम 

देहरादून। उत्तराखंड में भारी बारिश और भूस्खलन ने आमलोगों के साथ तीर्थयात्रियों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। ऋषिकेश और जोशीमठ मंे पहाड़ों से लगातर गिर रहे मलबे की वजह से ऋषिकेश-बद्रीनाथ हाईवे के दोनों ओर गाड़ियों की लंबी कतार लग गई है। बता दें कि मौसम विभाग ने राज्य के कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। अब यह बारिश लोगों के लिए मुसीबत बनती जा रही है। चमोली के जोशीमठ में भारी बारिश के चलते नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है ऐसे में नदियों को पारकर अपनी रोजमर्रा के कामों को पूरा करने वालों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। स्थानीय लोगों को बल्लियों के सहारे नदी पार करना पड़ रहा है जिससे उनकी जान को भी भारी खतरा बना हुआ है। 

ये भी पढ़ें - अधिकारों की लड़ाई में ‘आप’ को मिला शिवसेना का साथ, कहा- चुनी हुई सरकार को काम न करने देना अन्याय

गौरतलब है कि पिछले दिनों पिथौरागढ़, हल्द्वानी, मसूरी और चमोली में भारी बारिश के चलते जबर्दस्त भूस्खलन हुआ था। पिथौरागढ़ में भारी बारिश के बाद पहाड़ों से आए मलबे के लोगों के घरों और दुकानों में घुस जाने से भी काफी नुकसान हुआ था। वहीं हेमकुंड साहिब के रास्ते में भी भूस्खलन होने से तीर्थयात्रियों की परेशानियां बढ़ गई हैं। 


यहां बता दें कि उत्तराखंड सरकार ने भारी बारिश की चेतावनी के बाद सभी संबंधित अधिकारियों को अलर्ट पर रहने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही आपदा की सूचना देने के लिए टोल फ्री नंबर भी जारी किए हैं।   

Todays Beets: