Tuesday, January 22, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

उत्तराखंड का लव जेहाद मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, लगाए गए गंभीर आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड का लव जेहाद मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, लगाए गए गंभीर आरोप

देहरादून। उत्तराखंड का कथित लव जेहाद का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है।  इसमें कोर्ट ने सरकार से गुरुवार को होने वाल सुनवाई के दौरान लड़की को पेश करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि इस मामले में मुस्लिम लड़के ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर लड़की को पेश करने की गुहार लगाई है। हिंदू लड़की का कथित तौर पर धर्म परिवर्तित कर मुस्लिम युवक से शादी करने के इस मामले में आरोपी लड़का फिलहाल जेल में है और लड़की अपने पिता के पास है।

गौर करने वाली बात है कि हल्द्वानी के रहने वाले एक मुस्लिम युवक दानिश अहमद ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा था कि वह काठगोदाम की रहने वाली लड़की से प्रेम करता है और दोनांे का निकाह उनकी मर्जी से हुआ है।  यहां बता दें कि लड़की के पिता ने उसके अपहरण का मुकदमा दर्ज करा दिया जिसके बाद उसे और उसकी मां को गिरफ्तार कर लिया गया है।

यहां बता दें कि दानिश ने अपनी याचिका में यह भी कहा कि लड़की को उसकी मर्जी के बिना पिता के पास भेज दिया गया जबकि शादी के बाद उसे अपनी पत्नी के साथ रहने का अधिकार है। उसने कोर्ट ने अनुरोध किया कि लड़की को उसके पिता की गिरफ्त से निकालकर उसके पास रहने की इजाजत दी जाए। 


ये भी पढ़ें - राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिशें तेज, हिमालय माउंटेन होम में दिखेगी पहाड़ी संस्कृति

वहीं उत्तराखंड सरकार की ओर से पेश हुए डिप्टी एडवोकेट जनरल मनोज गोरकेला ने पीठ के समक्ष कहा कि आरोपी ने 18 अप्रैल को युवती का अपहरण किया और अगले दिन गाजियाबाद में फर्जी तरीके से युवती का धर्मांतरण कर उसके साथ शादी कर ली। उनका कहना था निकाहनामा फर्जी है और धर्म परिवर्तन से संबंधित दस्तावेज भी फर्जी हैं। बहरहाल पीठ ने कहा कि पहले वह लड़की से बातचीत करना चाहती है।    

Todays Beets: