Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

नेपाल घूमने गए अल्मोड़ा के ‘महेश’ के साथ हुआ हादसा, नदी में डूबने के बाद अब तक नहीं मिला कोई सुराग  

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नेपाल घूमने गए अल्मोड़ा के ‘महेश’ के साथ हुआ हादसा, नदी में डूबने के बाद अब तक नहीं मिला कोई सुराग  

देहरादून। मूल रूप से उत्तराखंड के रहने वाले महेश रौतेला और उनके दोस्तों के लिए नेपाल घूमने जाना काफी महंगा पड़ा। खबरों के अनुसार महेश दिल्ली के 4 दोस्तों के साथ 23 जून को काठमांडू घूमने गया था। महेश रौतेला 5 जुलाई की शाम को अपने दोस्तों के साथ नदी में नहाने गया और पानी के तेज बहाव में बह गया। दोस्तों के द्वारा जानकारी देने के बाद उसके परिजन मौके पर पहुंच गए हैं। नेपाल स्थित भारतीय दूतावास के निर्देश पर स्थानीय प्रशासन ने लापता हुए महेश को खोजने का काम शुरू कर दिया है। 

ये भी पढ़ें - कौलागढ़ के ‘हर्षमणि’ किसानों और युवाओं के लिए बने मिसाल, बारिश के पानी का संचय कर सिंचाई का दे...

गौरतलब है कि भारी बारिश के चलते तलाशी अभियान में काफी दिक्कतें आ रहीं हैं। नेपाली गोताखोर अपनी तरफ से लगातार कोशिशें कर रहे हैं लेकिन उन्हें अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। यहां गौर करने वाली बात है कि महेश अपने घर में सबसे बड़ा है और पूरे परिवार को चलाने की जिम्मेदारी उसी पर थी। बताया जा रहा है कि 1 महीने पहले उसने नौकरी भी छोड़ दी थी ऐसे में पुलिस उसके परिवार वालों से पूछताछ कर यह जानने में जुटी है कि कहीं वह तनाव का शिकार तो नहीं था। 


यहां बता दें कि महेश रौतेला का परिवार मूल रुप से जिला अल्मोड़ा, तहसील चौखुटिया गांव खजुरानी उत्तराखंड का है लेकिन मौजूदा समय में पूरा परिवार  दिल्ली के नागलोई में रहते हैं।  

 

Todays Beets: