Monday, July 23, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के बिगड़ने के आसार, एमसीआई ने दून मेडिकल काॅलेज में प्रवेश पर रोक लगाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के बिगड़ने के आसार, एमसीआई ने दून मेडिकल काॅलेज में प्रवेश पर रोक लगाई

देहरादून। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई)ने उत्तराखंड सरकार को एक बड़ा झटका दिया है। एमसीआई ने दून मेडिकल कॉलेज में तीसरे वर्ष के प्रवेश पर रोक लगा दी है और इसकी सूचना अपनी वेबसाइट पर भी अपलोड कर दी है। बता दें कि दून मेडिकल काॅलेज में पहले से ही फैकल्टी की भारी कमी है। एमसीआई के निरीक्षण में इसमें बड़ी खामियां पाई गई थी।

फैकल्टी की भारी कमी

गौरतलब है कि देहरादून मेडिकल काॅलेज में पहले से ही दो बैच चल रहे हैं और तीसरे बैच का अगले साल अगस्त में प्रवेश होना है लेकिन सितंबर में एमसीआई के दौरे में 14 खामियां पाईं गई थी। इन्हें आधार बनाते हुए तीसरे साल के एडमिशन पर रोक लगा दी है। इस कदम से राज्य सरकार के सामने मुश्किल खड़ी हो गई है। बता दें कि दून मेडिकल कॉलेज में वैसे ही फैकल्टी 25 फीसदी और रेजीडेंट डॉक्टर 14 फीसदी कम हैं।

ये भी पढ़ें - शिक्षकों की भर्ती में फर्जीवाड़े पर लगेगी रोक, अगले साल से टीईटी-डीएलएड की परीक्षाएं होंगी आॅनलाइन


स्वास्थ्य सेवा खराब हो सकती हैं

आपको बता दें कि इससे पहले सेना ने भी श्रीनगर मेडिकल काॅलेज को अपनी निगरानी में लेने से मना कर सरकार को एक झटका दिया है। दून मेडिकल काॅलेज में एमबीबीएस की 150 सीटें हैं। दो बैचों के छात्रों को प्रवेश मिल चुका है लेकिन तीसरे वर्ष में प्रवेश पर रोक से स्वास्थ्य सेवा के बिगड़ने की संभावना बढ़ गईं हैं।  

Todays Beets: