Thursday, May 24, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

इस साल ‘नामिक’ होगा 'ग्लेशियर ट्रैक आॅफ द ईयर’, इन कंपनियों के जरिए करा सकेंगे बुकिंग

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इस साल ‘नामिक’ होगा

देहरादून। उत्तराखंड में साहसिक खेलों की अपार संभावनाएं हैं ऐसे में यहां ट्रैकिंग को बढ़ावा देने के लिए हर साल एक ट्रैक को ट्रैक आॅफ द ईयर घोषित किया जाता है। उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद ने इस साल ‘नामिक’ को ‘ग्लेशियर ट्रैक ऑफ द इयर’ घोषित किया गया है। बता दें कि 8 जून से 30 जून तक ट्रैकिंग का आयोजन किया जाएगा। काठगोदाम से शुरू होने वाले ट्रैकिंग बागेश्वर, गोगिना, थलटॉप, नंदकुंड से होते हुए नामिक ग्लेशियर व्यू प्वाइंट पहुंचेगा।

गौरतलब है कि राज्य के पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर का कहना है कि पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से ट्रैक ऑफ द इयर का चयन किया गया है। हर साल नए ट्रैक रुटों का चयन किया जाता है। इसी कड़ी में इस साल नामिक ग्लेशियर का चयन किया गया है। इस तरह के आयोजनों से साहसिक पर्यटन को बढ़ावा मिलने के साथ ही स्थानीय लोक संस्कृति का भी प्रचार प्रसार होता है।

ये भी पढ़ें - बद्रीनाथ में यात्रियों को परेशान करने वाले भिखारियों और संतों की खैर नहीं, 30 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

आपको बता दें कि नामिक ग्लेशियर को ट्रैक आॅफ द ईयर घोषित करने से उस इलाके में होम स्टे योजना को भी बढ़ावा मिलेगा। ट्रैकिंग के लिए यहां आने वाले पर्यटकों को स्थानीय लोगों के घरों में ठहराया जाएगा ताकि उन्हें भी रोजगार का जरिया मिल सके। अगर आप भी साहसिक पर्यटन में दिलचस्पी रखते हैं और यहां आना चाहते हैं तो आप उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की वेबसाइट से बुकिंग करा सकते हैं। परिषद की ओर से चुनी गई फर्म ही बुकिंग करेंगी। पर्यटकों को पूरे रुट, ट्रैक में आवास, भोजन, ट्रैकिंग उपकरण, सुरक्षा व बचाव उपकरण की सुविधा कंपनी देगी। हर दल की अधिकतम संख्या 25 होगी।


इन तीन कंपनियों को आयोजन का जिम्मा

मैसर्स क्यूरियस इनोवेशन प्राइवेट लिमिटेड नई दिल्ली, मैसर्स कोस्मोस टुअर एंड एक्सपिडीशन पिथौरागढ़, बिकट एडवेंचर्स नई दिल्ली।

Todays Beets: