Saturday, November 25, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

दून शहर की सफाई पर शासन सख्त, अनदेखी करने वाले अधिकारियों का दूरस्थ इलाकों में होगा तबादला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दून शहर की सफाई पर शासन सख्त, अनदेखी करने वाले अधिकारियों का दूरस्थ इलाकों में होगा तबादला

देहरादून। देहरादून शहर को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद तेज कर दी गई है। शहर की सफाई को लेकर भी शासन सख्त हो गया है। शहरी विकास सचिव राधिका झा ने सड़कों पर फैले कूड़े को लेकर सफाई अधिकारियों की क्लास ली है। सचिव ने सफाई निरीक्षकों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि आगामी दो माह में अपने कार्यक्षेत्र को पूरी तरह से कूड़ा मुक्त करें नहीं तो उनका तबादला देहरादून शहर से दूसरी जगह कर दिया जाएगा। इसके लिए एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी जो प्रतिदिन जिलाधिकारी एवं नगर आयुक्त को रिपोर्ट सौंपेगा।

डस्टबिन लगाने के निर्देश

गौरतलब है कि शहरी विकास सचिव ने नगर आयुक्त को इस बात के भी निर्देश दिए कि शहर में अनाधिकृत पडे समस्त कूडे़ को दो दिन में उठाकर ऐसे क्षेत्रों में वन विभाग एवं एमडीडीए के सहयोग से पौधारोपण किया जाए। कूडे़ के निस्तारण के लिए विभागीय फंड से गुणवत्तायुक्त डस्टबिन खरीदने के निर्देश दिए गए हैं। सफाई अभियान को तेज करने के लिए उन्होंने नगर आयुक्त, संयुक्त निदेशक शहरी विकास, मुख्य विकास अधिकारी तथा अपर जिलाधिकारी को सफाई व्यवस्था के नियमित औचक निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए हैं।

ये भी पढ़ें - एसआईटी की जांच में चार शिक्षकों के प्रमाण पत्र फर्जी मिले, अब होगी विभागीय कार्रवाई


नियमों की अनदेखी करने वालों का चालान

दून को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए शहर के सभी प्रमुख मार्गों पर मौजूद गड्ढों के भरान एवं पैचवर्क कार्य को प्राथमिकता पर करने के निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि राज्य में कूडा करकट एवं थूकना प्रतिषेध अधिनियम पहले ही लागू किया जा चुका है। साथ ही लोगों को कूड़ा फेंकने और सड़कों पर थूकने को लेकर जागरूकता अभियान चलाने के भी निर्देश दिए गए हैं। शहरी विकास सचिव ने शहर के सभी प्रमुख जगहों पर होर्डिंग्स एवं कूडा स्थलों के पास सूक्ष्म जागरूकता संदेश लगाए  जाने, खाली पडे प्लाॅटों की तारबंदी करने के निर्देश दिए हैं ऐसा न करने वालों का चालान काटने की कार्यवाही की जाएगी।

 

 

Todays Beets: