Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

उत्तराखंड में कैंसर ने पसारे अपने पांव , देश में सबसे ज्यादा मामले देवभूमि में, पिछले 8 सालों में मरीजों की संख्या दोगुनी हुई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड में कैंसर ने पसारे अपने पांव , देश में सबसे ज्यादा मामले देवभूमि में, पिछले 8 सालों में मरीजों की संख्या दोगुनी हुई

देहरादून । उत्तराखंड में राज्य सरकारों द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर बनाई गई नीतियां पहले से सवालों के घेरे में रही हैं। इस सब के बीच विश्व कैंसर दिवस पर देवभूमि के लिए एक और बुरी खबर आई है। आंकड़ों में खुलासा हुआ है कि पिछले 8 सालों में राज्य में कैंसर के मामलों में दोगुने से ज्यादा की वृद्धि हो गई है। प्रदेश के इस बीमारी से जूझने वाले लोगों का इजाफा दिनों दिन बढ़ता जा रहा है, जिसके चलते इन मरीजों को दिल्ली-एनसीआर के शहरों में जाकर अपना इलाज करवाने को मजबूर होना पड़ रहा है, लेकिन राज्य सरकार इस और कोई ठोस फैसला लेने के बारे में कोई बात करने को तैयार नहीं। हालाकि स्थिति इतनी चिंताजनक हो गई है कि देश में कैंसर ने अपने पांव सबसे ज्यादा उत्तराखंड में ही पसारे हैं। सामने आया है कि उत्तराखंड में कैंसर के मामले पूरे की तुलना में सबसे ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं। राज्य में सबसे ज्यादा कैंसर के मामले ओरल और लंग कैंसर के सामने आ रहे हैं। 

ICMR की रिपोर्ट में खुलासा

असल में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी ICMR की एक रिपोर्ट के मुताबिक उत्तराखंड में कैंसर रोगियों की संख्या पूरे देश के मुकाबले ज्यादा तेजी के बढ़ रही है। पिछले 8 सालों के आंकड़ों पर नजर डालने के बाद आईसीएमआर का कहना है कि देवभूमि में कैंसर के मामलों में दोगुनी की वृद्धि हुई है। 


उत्तराखंड में आंकड़ा 10.15 फीसदी

कैंसर पूरे देश में जिस गति से अपने पांव पसार रहा है, वह चिंताजनक है । उत्तराखंड के लोगों के लिए यह स्थिति और भयावय इसलिए हो जाती है कि जहां पूरे देश में कैंसर रोगी प्रतिवर्ष 9.2 फीसदी की दर से बढ़ रहे हैं , वहीं उत्तराखंड में कैंसर के रोगी 10.15 फीसदी है। आईसीएमआर की रिपोर्ट बताती है कि उत्तराखंड में सबसे ज्यादा रोगी ओरल और लंग कैंसर से जूझ रहे हैं। कुल कैंसर रोगियों में से 28.79 फीसदी मरीज ओरल और लंग कैंसर के हैं।

 

Todays Beets: