Thursday, August 16, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

किराए पर ई-रिक्शा चलवाने वाले हो जाएं सवाधान, पंजीकरण होगा रद्द और गाड़ी भी होगी जब्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
किराए पर ई-रिक्शा चलवाने वाले हो जाएं सवाधान, पंजीकरण होगा रद्द और गाड़ी भी होगी जब्त

देहरादून। केन्द्रीय परिवहन मंत्रालय के नए दिशा-निर्देश के बाद उत्तराखंड परिवहन विभाग भी सख्त हो गया है। परिहवन विभाग ने सड़कों पर चलने वाले ई-रिक्शा को लेकर कड़ा कदम उठाया है। विभाग ने कहा है कि पंजीकृत व्यक्ति ही ई-रिक्शा चलाएगा अन्यथा उसका पंजीकरण रद्द कर रिक्शा को सीज कर लिया जाएगा। यहां बता दें कि शहरी  क्षेत्रों से  दूर रहने वाले लोगों की यात्रा का आसान बनाने के लिए ई-रिक्शा को परमिट दी गई थी। कई लोगों ने अपने अलावा परिजनों के नाम पर भी रिक्शा खरीद लिया और उसे किराए पर देकर चलवाने लगे। विभाग की ओर से कहा गया है कि पंजीकृत रिक्शा से ज्यादा रिक्शा पर कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि शहर के अंदर यातायात की सुविधा को आसान बनाने के लिए शहर के मुख्य सड़कों को छोड़कर अन्य मार्गों पर ई-रिक्शा का संचालन शुरू किया गया था। इसके बाद कई लोगों ने एक साथ कई रिक्शा खरीद ली और उसे किराया पर चलवाने लगे। बताया जा रहा है कि परिवहन विभाग में 1200 ई-रिक्शा पंजीकृत हैं लेकिन सड़कों पर 1400 रिक्शा दौड़ रहीं हैं। वहीं किराया निर्धारित नहीं होने की वजह से चालक यात्रियों से मनमाना किराया वसूल रहे हैं।

यहां बता दें कि कई रिक्शा चालकों का कहना है कि प्रतिदिन 300 रुपये लेकर किराए पर रिक्शे चलवाए जा रहे हैं।  यात्रियों से मनमाना किराया वसूलने के मामले पर आरटीओ ने सख्ती बढ़ाने की तैयारी शुरू कर दी है। 

ये भी पढ़ें - अब शिक्षामित्रों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, शुरू किया आमरण अनशन


ई रिक्शे के लिए केंद्रीय परिवहन विभाग की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार, जिस व्यक्ति को ई रिक्शा का लाइसेंस जारी किया जाएगा, वही उसे चलाएगा। अगर लाइसेंसधारक के अलावा कोई दूसरा व्यक्ति ई रिक्शा चलाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई का प्रावधान है। इसके तहत उसे बंद करने के साथ ही पंजीकरण रद्द कर रिक्शा सीज भी किया जा सकता है।

 

Todays Beets: