Monday, July 16, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

हल्द्वानी में सालों से लोग पी रहे हैं मुफ्त का पानी, जल संस्थान का बकाया पहुंचा 22 करोड़

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हल्द्वानी में सालों से लोग पी रहे हैं मुफ्त का पानी, जल संस्थान का बकाया पहुंचा 22 करोड़

हल्द्वानी।  पेयजल की परेशानी से जूझ रहे उत्तराखंड के हल्द्वानी से एक चौंकाने वाली खबर  सामने आई है। एक आरटीआई में इस बात का खुलासा हुआ है कि हल्द्वानी के 14 हजार लोग पिछले 15 से 20 सालों से मुफ्त में पानी पी रहे हैं और इसके लिए कोई बिल नहीं चुका रहे हैं। अब यह बिल बढ़ते-बढ़ते 22 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है, बड़ी बात यह है कि जल संस्थान की ओर से इन लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। वहीं जिन लोगों के घरों में पानी की एक बूंद भी नहीं पहुंची है उन्हें लगातार बिल भेजे जा रहे हैं। 

गौरतलब है कि यह दावा तब किया जा रहा है जबकि जल संस्थान हर साल मार्च में बिल जमा नहीं करने वालों के कनेक्शन काटने की बात करता है। बड़ी बात यह है कि विभाग की जानकारी में होने के बाद भी प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है। 

ये भी पढ़ें - प्रदेश भाजपा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, राष्ट्रीय प्रतीक के गलत इस्तेमाल पर हो सकती है जेल


यहां बता दें कि हल्द्वानी के लोगों का यह बिल कोई 1 या 2 महीने में इतना नहीं पहुंचा लोगों ने सालों-साल बिना पैसे जमा किए मुफ्त में पानी का इस्तेमाल करते रहे। यहां बड़ा सवाल यह भी उठ रहा है कि जब विभाग का इतना पैसा बकाया है तो उसकी हालत कैसी होगी? जानकारी के अनुसार लोगों के ऊपर 1000 रुपये से लेकर 50 हजार रुपये तक का पानी बिल बकाया है। गौर करने वाली बात है कि सरकार को कर्मचारियों के वेतन और पेंशन भुगतान के लिए ऋण लेना पड़ रहा है और विभागीय कर्मचारी बकाए की वसूली तक नहीं कर पा रहे हैं।  

Todays Beets: