Saturday, January 20, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

केदारपुरी के पुनर्निर्माण पर पीएम रखेंगे सीधी नजर, ड्रोन से होगी निगरानी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
केदारपुरी के पुनर्निर्माण पर पीएम रखेंगे सीधी नजर, ड्रोन से होगी निगरानी

नई दिल्ली/देहरादून। उत्तराखंड में नई केदारपुरी बसाना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल है। अब इसके कार्यों की निगरानी ड्रोन और सीसीटीवी के जरिए होगी ताकि कार्यों की प्रगति पर मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री दोनों कार्यालयों की नजर होगी। रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने इसके लिए कोटेशन मंगाए हैं।

सीसीटीवी कैमरे लगेंगे

बता दें कि 2013 की भयानक आपदा में केदारपुरी पूरी तरह से तबाह हो गया था। केदारनाथ के कपाट बंद होने के मौके पर पहुंचे पीएम ने वहां पांच परियोजनाओं का शिलान्यास किया था। इस पर अब काम शुरू कर दिया गया है। करीब 200 करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट पर निगरानी रखने के लिए यहां पांच सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। मंदाकिनी के साथ दूध एवं मुध गंगा से सटी पहाड़ी और सरस्वती नदी/भैरवनाथ की पहाड़ी पर भी कैमरे से केदारपुरी के कामों की निगरानी होगी। डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि इसकी कवायद शुरू कर दी गई है। 

ये भी पढ़ें - शिक्षक संघ के चुनाव को लेकर मंत्री और संगठन के बीच नाराजगी, कहा-शिक्षक राजनीति के बजाय शिक्षा...


हेलीकॉप्टर और ड्रोन की जरूरत 

केदारनाथ की भौगोलिक स्थिति और मौसम को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने काम की देखरेख के लिए शासन से एक हेलीकॉप्टर की भी मांग की है। डीएम मंगेश घिल्डियाल के कहा कि यह हेलीकॉप्टर गुप्तकाशी में रहेगा। डीएम  का कहना है कि इसी महीने दो ड्रोन कैमरे खरीदे जाएंगे। इन ड्रोन कैमरों का इस्तेमाल केदारनाथ में होने वाले कामों की रिकॉर्डिंग के लिए किया जाएगा। इसके लिए ड्रोन कैमरे बनाने वाली कंपनियों से कोटेशन मांगे हैं उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही इस काम को अंजाम दिया जाएगा। 

Todays Beets: