Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

दून में कबाड़ी के पास जिन्दा कारतूस मिलने से हड़कंप, पुलिस ने तीन महिला समेत 1 पुरुष को किया गिरफ्तार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दून में कबाड़ी के पास जिन्दा कारतूस मिलने से हड़कंप, पुलिस ने तीन महिला समेत 1 पुरुष को किया गिरफ्तार

देहरादून। देहरादून में एक कबाड़ी के पास से सेना के प्रतिबंधित कारतूसों के खोखों और 100  से ज्यादा जिंदा कारतूस मिलने से हड़कंप मच गया है। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में कबाड़ी समेत तीन महिलाओं को गिरफ्तार किया है। सूचना मिलने पर आर्मी इंटेलीजेंस से लेकर खुफिया तंत्र के अधिकारियों ने कैंट कोतवाली में आरोपियों से घंटों पूछताछ की है लेकिन अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि इतनी बड़ी मात्रा में जिन्दा कारतूस और खोखे बाहर कैसे आए। 

कबाड़ी के पास जिन्दा कारतूस

गौरतलब है कि एसओजी को 4 जनवरी को इस बात की खूफिया सूचना मिली थी कि सेना की एक बटालियन से हजारों की संख्या में कारतूस के खोखों के गुम होने हो गए हैं। हालांकि, सेना की ओर से किसी भी थाने में इसकी रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई गई थी लेकिन एसओजी की टीम मामले कह छानबीन में जुटी हुई थी। एसओजी और कैंट पुलिस की संयुक्त तलाशी अभियान में कैंब्रियन हॉल स्कूल के पास तीन महिलाएं और एक पुरुष बोरे में कुछ लेकर जाते दिखे। उन्हें रोककर बोरों की जांच की गई तो इनमें प्रतिबंधित कारतूस के खोखे और दर्जनों जिंदा कारतूस मिले। इसकी सूचना रात में ही सेना के अधिकारियों को दे दी गई। मौके पर पहुंचे सेना के अधिकारियों ने पुलिस के साथ कारतूस खोखों की जांच और गिनती की। बता दें कि गिनती के दौरान 5.56 एमएम के 8170 खोखे और 7.62 एमएम के 119 जिंदा कारतूस मिले। 

ये भी पढ़ें -एक साथ दो मान्यता रखने वाले मदरसों बोर्ड हुआ सख्त, अब होगी कार्रवाई


पुलिस ने इन्हें लिया गिरफ्त में

यहां बता दें कि खोखे और जिन्दा कारतूस के मामले में पुलिस ने मुस्तकीम (30) पुत्र तासीम निवासी कांवली रोड, गांधी ग्राम, सीमा (24) पुत्री रंजीत साहनी, शिव कुमारी उर्फ गोरे वाली (38) पुत्री रामलखन साहनी और पिंकी पुत्री (20) विजय साहनी निवासी कांवली रोड के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि मुस्तकीम की जीएमएस रोड पर कबाड़ की दुकान है जबकि ये महिलाएं कबाड़ बीनने का काम करती हैं। आशंका जताई जा रही है कि इन महिलाओं ने सेना के कैंप में घुसकर कारतूस के खोखों और जिंदा कारतूस चोरी किए और उन्हें कबाड़ की दुकान पर बेचने की तैयारी थी। 

 

 

Todays Beets: