Tuesday, September 19, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

किडनी किंग के विदेश भागने की आशंका, पुलिस जारी कर सकती है रेड काॅर्नर नोटिस

अंग्वाल न्यूज डेस्क
किडनी किंग के विदेश भागने की आशंका, पुलिस जारी कर सकती है रेड काॅर्नर नोटिस

देहरादून। किडनी रैकेट के सरगना और चार विदेशी नागरिकों के विदेश भागने की संभावना बढ़ गई है। ऐसे में पुलिस लुक आउट सर्कुलर जारी करने के बाद अब रेड काॅर्नर नोटिस जारी करने की तैयारी कर रही है। पुलिस किडनी किंग डाॅक्टर अमित  राउत, उसके बेटे डाॅक्टर अक्षय राउत और दलाल डाॅक्टर राजीव की तलाश में जगह-जगह छापेमारी कर रही है। पुलिस एंबुलेंस के ड्राइवर से भी पूछताछ कर रही है जिसने बाप-बेटे दोनों को आखिरी बार कहीं छोड़ा था।

बैंक खाते हुए फ्रीज

गौरतलब है कि डाॅक्टर राजीव की पत्नी के खाते से 50 लाख रुपये उत्तरांचल डेंटल सेंटर को ट्रांसफर करने की भी जानकारी मिली है। ऐसे में गंगोत्री चेरीटेबल अस्पताल के लीज पर देने की पुष्टि हो रही है। बाप-बेटे दोनों के बैंक खातों को फ्रीज कर दिया गया है। पुलिस अधिकारियों की टीम सर्च वारंट लेकर अमित और राजीव के नेचर विला स्थित फ्लैट पर पहुंची, जहां देर रात तक तलाशी चली। 

ये भी पढ़ें - श्रद्धालु सिर्फ 8 घंटे में पहुंचेंगे दिल्ली से बद्रीनाथ, मुज्जफरनगर से रुड़की तक चलेगी अलग ट्रेन

रेड काॅर्नर नोटिस


आपको बता दें कि किडनी रैकेट का खुलासा होने के बाद ही डाॅक्टर अमित और बेटा अक्षय दोनों गंगोत्री चैरिटेबल अस्पताल के एंबुलेंस से फरार हो गए थे। पुलिस उन वाहन के चालक से भी पूछताछ कर रही है। एंबुलेंस चालक ने दोनों को जहां छोड़ा उसकी लोकेशन हरियाणा और शिमला बताई जा रही है। ऐसे में उसके नेपाल भागने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि इमीग्रेशन डिपार्टमेंट से इस बात की जानकारी नहीं मिली है। पुलिस लगातार उनसे संपर्क में है। फिर भी यदि गैंग के सदस्यों के बारे में इस दिशा में जरा भी शक होता है तो इंटरपोल की मदद लेने के लिए रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी करा दिया जाएगा।

रिश्तेदारों की तलाश में पुलिस

यहां यह भी बता दें कि डाॅक्टर अमित के बेटे अक्षय के कई बैंक अकाउंट के बारे में पता चला है जिसके जरिए दवा विक्रेताओं को भुगतान किया गया है। अब पुलिस उनसे भी पूछताछ कर सकती है। पुलिस डाॅक्टर अमित के सभी रिश्तेदारों पर भी नजर बनाए हुए है। हरियाणा में रहने वाले उसके भाई के घर पर भी गई पुलिस को वह घर पर नहीं मिला। 

Todays Beets: