Wednesday, January 23, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

उत्तराखंड की बेटी ने डीकेडी 2 को किया फतह, अब पापसुरा को नापने की तैयारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड की बेटी ने डीकेडी 2 को किया फतह, अब पापसुरा को नापने की तैयारी

हल्द्वानी। उत्तराखंड की बेटियों ने भी कई क्षेत्रों में अपने हुनर का जलवा दिखाया है। अब इसमें हल्द्वानी की पूजा पलड़िया शर्मा का नाम भी जुड़ गया है। पूजा ने उत्तरकाशी में समुद्रतल से करीब 5 हजार से ज्यादा ऊंचाई पर स्थित द्रौपदी का डांडा 2 (डीकेडी 2) की चोटी को फतह किया है। अब वह इससे ऊंची चोटी पापसुरा पर चढ़ाई के लिए हिमाचल पहुंच गई हैं। पूजा का लक्ष्य भविष्य में माउंट एवरेस्ट की चोटी पर तिरंगा लहराने की है। 

गौरतलब है कि पूजा पलड़िया शर्मा को पापसुरा पर्वत पर चढ़ाई पूरा करने के लिए इंडियन माउंटेनियरिंग फाउंडेशन (आईएमएफ) की ओर से उन्हें ट्रेनिंग दी जा रही है। बता दें कि पूजा ने पर्वतारोहण करने के लिए नेहरू इंस्टीट्यूट आॅफ माउंटेनियरिंग (निम) में 10 दिनों का रेस्क्यू कोर्स किया है और उत्तरकाशी से एक-एक माह का बेसिक और एडवांस कोर्स किया। उन्होंने 2017 में 16 हजार फुट ऊंचे चमोली के रूपकुंड पर्वत पर भी फतह पाई थी। पूजा भविष्य में माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा लहराने के लिए जीतोड़ मेहनत कर रही हैं।

ये भी पढ़ें - चमोली में भारी बारिश ने मचाई तबाही, भूस्खलन की चपेट में आने से कई गौशालाएं बहीं


गौर करने वाली बात है कि पूजा ने पर्वतारोहण को पूरी तरह से सफल बनाने के लिए स्थानीय विधयाक को भी मदद के लिए पत्र लिखा है। बताया जा रहा है कि निम से प्रशिक्षण लेने के बाद अब वह समुद्र तल से करीब 6 हजार से ज्यादा ऊंचाई पर स्थित पापसुरा पर्वत पर चढ़ाई की तैयारी शुरू कर दी है। हल्द्वानी के काॅलेज से योग में एमए करने के बाद वह लोगों को योग भी सिखाती हैं। पूजा का कहना है कि उसके पर्वतारोहण में उसके पति और ससुर काफी मदद करते हैं। 

 

Todays Beets: