Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

उत्तराखंड की बेटी ने डीकेडी 2 को किया फतह, अब पापसुरा को नापने की तैयारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड की बेटी ने डीकेडी 2 को किया फतह, अब पापसुरा को नापने की तैयारी

हल्द्वानी। उत्तराखंड की बेटियों ने भी कई क्षेत्रों में अपने हुनर का जलवा दिखाया है। अब इसमें हल्द्वानी की पूजा पलड़िया शर्मा का नाम भी जुड़ गया है। पूजा ने उत्तरकाशी में समुद्रतल से करीब 5 हजार से ज्यादा ऊंचाई पर स्थित द्रौपदी का डांडा 2 (डीकेडी 2) की चोटी को फतह किया है। अब वह इससे ऊंची चोटी पापसुरा पर चढ़ाई के लिए हिमाचल पहुंच गई हैं। पूजा का लक्ष्य भविष्य में माउंट एवरेस्ट की चोटी पर तिरंगा लहराने की है। 

गौरतलब है कि पूजा पलड़िया शर्मा को पापसुरा पर्वत पर चढ़ाई पूरा करने के लिए इंडियन माउंटेनियरिंग फाउंडेशन (आईएमएफ) की ओर से उन्हें ट्रेनिंग दी जा रही है। बता दें कि पूजा ने पर्वतारोहण करने के लिए नेहरू इंस्टीट्यूट आॅफ माउंटेनियरिंग (निम) में 10 दिनों का रेस्क्यू कोर्स किया है और उत्तरकाशी से एक-एक माह का बेसिक और एडवांस कोर्स किया। उन्होंने 2017 में 16 हजार फुट ऊंचे चमोली के रूपकुंड पर्वत पर भी फतह पाई थी। पूजा भविष्य में माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा लहराने के लिए जीतोड़ मेहनत कर रही हैं।

ये भी पढ़ें - चमोली में भारी बारिश ने मचाई तबाही, भूस्खलन की चपेट में आने से कई गौशालाएं बहीं


गौर करने वाली बात है कि पूजा ने पर्वतारोहण को पूरी तरह से सफल बनाने के लिए स्थानीय विधयाक को भी मदद के लिए पत्र लिखा है। बताया जा रहा है कि निम से प्रशिक्षण लेने के बाद अब वह समुद्र तल से करीब 6 हजार से ज्यादा ऊंचाई पर स्थित पापसुरा पर्वत पर चढ़ाई की तैयारी शुरू कर दी है। हल्द्वानी के काॅलेज से योग में एमए करने के बाद वह लोगों को योग भी सिखाती हैं। पूजा का कहना है कि उसके पर्वतारोहण में उसके पति और ससुर काफी मदद करते हैं। 

 

Todays Beets: