Tuesday, September 19, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

उत्तराखंड के ‘प्रदीप’ ने महाराष्ट्र के संतोष का तोड़ा रिकाॅर्ड, साइकिल से यात्रा का बनाया नया कीर्तिमान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड के ‘प्रदीप’ ने महाराष्ट्र के संतोष का तोड़ा रिकाॅर्ड, साइकिल से यात्रा का बनाया नया कीर्तिमान

देहरादून। साइकिल से दुनिया नापने की इच्छा रखने वाले उत्तराखंड के प्रदीप राणा ने एक नया रिकाॅर्ड बनाया है। प्रदीप ने 116  दिनों में 15,280 किलोमीटर की यात्रा कर महाराष्ट्र के संतोष के रिकाॅर्ड को तोड़ दिया है। बता दें कि संतोष ने 15,222 किलोमीटर की यात्रा की थी। प्रदीप इन दिनों हिमाचल प्रदेश के पालमपुर में हैं जहां से नाहन, पावंटा साहिब होते हुए वे दून पहुंचेंगे। 

संतोष का रिकाॅर्ड तोड़ा

गौरतलब है कि प्रदीप राणा मूल रूप से बागेश्वर के गरुड़ गांव के रहने वाले हैं और ग्राफिक एरा विश्वविद्यालय में बीएससी आईटी के छात्र हैं। बता दें कि प्रदीप ने कुछ समय पहले ही साइकिल यात्रा का विश्व रिकॉर्ड तोड़कर गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करने की ठानी थी। प्रदीप ने 23 मई को देहरादून से स्कॉल साइकिल पर यात्रा की शुरुआत की थी और 116 दिनों की यात्रा के बाद वे पालमपुर पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि पिछले साल महाराष्ट्र के संतोष ने इतने ही दिनों में 15,222 किलोमीटर का सफर तय किया था अब वे 15,280 किलोमीटर का सफर तय कर उनका रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं। दून  पहुंचने के बाद प्रदीप गढ़वाल और कुमाऊं मंडल का भी साइकिल से ही दौरा करेंगे।

ये भी पढ़ें - राज्य में हुआ पलायन आयोग का गठन, गांवों के खाली होने के कारणों का लगाया जाएगा पता 

130 किलोमीटर का रोजाना सफर


प्रदीप औसतन 110 से 130 किमी तक साइकिल रोज चला रहे हैं। सुबह सात से नौ बजे तक साइकिल चलाते हैं और इसके बाद ब्रेकफास्ट करते हैं। दोपहर दो बजे तक लगातार साइकिल चलाने के बाद लंच करते हैं। शाम को अंधेरा होने से पहले वह सुरक्षित जगह पर पहुंचने की कोशिश करते हैं।

इन राज्यों की यात्रा

उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मेघालय, सिक्किम, पश्चिम बंगाल, ओडिसा, तमिलनाडु, केरल, महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, दादर नगर हवेली, गोवा, आंध्र प्रदेश और राजस्थान  

Todays Beets: