Friday, January 19, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

उत्तराखंड के ‘प्रदीप’ ने महाराष्ट्र के संतोष का तोड़ा रिकाॅर्ड, साइकिल से यात्रा का बनाया नया कीर्तिमान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तराखंड के ‘प्रदीप’ ने महाराष्ट्र के संतोष का तोड़ा रिकाॅर्ड, साइकिल से यात्रा का बनाया नया कीर्तिमान

देहरादून। साइकिल से दुनिया नापने की इच्छा रखने वाले उत्तराखंड के प्रदीप राणा ने एक नया रिकाॅर्ड बनाया है। प्रदीप ने 116  दिनों में 15,280 किलोमीटर की यात्रा कर महाराष्ट्र के संतोष के रिकाॅर्ड को तोड़ दिया है। बता दें कि संतोष ने 15,222 किलोमीटर की यात्रा की थी। प्रदीप इन दिनों हिमाचल प्रदेश के पालमपुर में हैं जहां से नाहन, पावंटा साहिब होते हुए वे दून पहुंचेंगे। 

संतोष का रिकाॅर्ड तोड़ा

गौरतलब है कि प्रदीप राणा मूल रूप से बागेश्वर के गरुड़ गांव के रहने वाले हैं और ग्राफिक एरा विश्वविद्यालय में बीएससी आईटी के छात्र हैं। बता दें कि प्रदीप ने कुछ समय पहले ही साइकिल यात्रा का विश्व रिकॉर्ड तोड़कर गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करने की ठानी थी। प्रदीप ने 23 मई को देहरादून से स्कॉल साइकिल पर यात्रा की शुरुआत की थी और 116 दिनों की यात्रा के बाद वे पालमपुर पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि पिछले साल महाराष्ट्र के संतोष ने इतने ही दिनों में 15,222 किलोमीटर का सफर तय किया था अब वे 15,280 किलोमीटर का सफर तय कर उनका रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं। दून  पहुंचने के बाद प्रदीप गढ़वाल और कुमाऊं मंडल का भी साइकिल से ही दौरा करेंगे।

ये भी पढ़ें - राज्य में हुआ पलायन आयोग का गठन, गांवों के खाली होने के कारणों का लगाया जाएगा पता 

130 किलोमीटर का रोजाना सफर


प्रदीप औसतन 110 से 130 किमी तक साइकिल रोज चला रहे हैं। सुबह सात से नौ बजे तक साइकिल चलाते हैं और इसके बाद ब्रेकफास्ट करते हैं। दोपहर दो बजे तक लगातार साइकिल चलाने के बाद लंच करते हैं। शाम को अंधेरा होने से पहले वह सुरक्षित जगह पर पहुंचने की कोशिश करते हैं।

इन राज्यों की यात्रा

उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मेघालय, सिक्किम, पश्चिम बंगाल, ओडिसा, तमिलनाडु, केरल, महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, दादर नगर हवेली, गोवा, आंध्र प्रदेश और राजस्थान  

Todays Beets: