Sunday, February 17, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

प्राथमिक शिक्षक वेतन-भत्तों की रिकवरी के आदेश से सरकार से नाराज, कोर्ट जाने की चेतावनी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
प्राथमिक शिक्षक वेतन-भत्तों की रिकवरी के आदेश से सरकार से नाराज, कोर्ट जाने की चेतावनी

देहरादून। ऐसा लगता है राज्य में सरकार और शिक्षकों के बीच सबकुछ अभी भी ठीक नहीं चल रहा है। शिक्षक एलटी कैडर के समान मिले वेतन और भत्ते पा रहे बेसिक शिक्षक अब रिकवरी आदेश के खिलाफ खड़े हो गए हैं। शिक्षकों का कहना है कि अगर शिक्षक चयन वेतनमान और प्रमोशन से 4200 से 4600 ग्रेड पे पर पहुंचे शिक्षक एलटी कैडर के समान वेतन-भत्तों के पात्र नहीं थे तो उन्हें भुगतान क्यों किया गया? प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय महामंत्री दिग्विजय सिंह चैहान का कहना है कि रिकवरी के आदेश का विरोध किया जाएगा। 

वेतन-भत्तों की रिकवरी

गौरतलब है कि शिक्षक संघ ने अपना विरोध जताते हुए कहा कि जरूरत पड़ने पर वे कोर्ट में भी जा सकते हैं। प्राथमिक शिक्षक संघ की उप महामंत्री आभा गौड़ ने कहा कि यह छठे वेतनमान की विसंगति है सरकार को इसे जल्द से जल्द दूर करना चाहिए। यहां बता दें कि शिक्षा निदेशक ने 2 दिनों पहले ही सीईओ को एलटी के समान वेतन-भत्ते पा रहे शिक्षकों से रिकवरी के आदेश दिए हैं। 


ये भी पढ़ें उत्तरकाशी में हुआ बड़ा हादसा, बारातियों से भरी गाड़ी के खाई में गिरने से 5 की मौके पर मौत, 5 अ...

हरियाणा में भी ऐसी स्थिति

यहां बता दें कि सरकारी आदेश के अनुसार 1 जनवरी 2006 के बाद प्रमोशन और चयन वेतनमान से 4200 से 4600 ग्रेड पे पर आए शिक्षकों को एलटी कैडर के समान 17 हजार 140 रुपये वेतन का लाभ नहीं मिल सकता है। यहां बता दें कि ऐसी ही स्थिति हरियाणा में भी पैदा हो गई है लेकिन वहां रिकवरी के आदेश पर रोक लगा दी गई है। अब प्राथमिक शिक्षक संघ हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश के प्रति मंगाने का प्रयास कर रहा है इसके आधार पर शिक्षक राज्य में भी न्यायिक लड़ाई लड़ेंगे।  

Todays Beets: